ADG जीपी सिंह से कुख्यात नक्सली पहाड़ सिंह के सरेंडर मामले में होगी पूछताछ

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। ADG जीपी सिंह से पिछले चार दिनों से पूछताछ जारी है। एक चौंकाने वाली जानकारी सामने आ रही है कि उनसे एक कुख्यात सरेंडर नक्सली पहाड़ सिंह के संबंध में भी पूछताछ होगी। कभी महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के मोस्ट वांटेंड रहे इस नक्सली लीडर ने 3 साल पहले अगस्त 2018 में जीपी सिंह के सामने ही सरेंडर किया था। उस समय जीपी सिंह दुर्ग IG थे। जांच दल को सिंह के बंगले से कुछ ऐसे कागज मिले हैं, जिनमें पहाड़ सिंह के सरेंडर संबंधी बातें लिखी हुई हैं। बताया जा रहा है कि पहाड़ सिंह के पास नक्सलियों के करोड़ों रुपए थे, जिन्हें वह नोटबंदी के दौरान व्यापारियों से बदलने के लिए लाया था।

जीपी सिंह के नेतृत्व वाली पुलिस टीम ने 23 अगस्त 2018 को एक प्रेस कान्फ्रेंस की। तत्कालीन दुर्ग IG सिंह ने इसमें पहाड़ को मीडिया के सामने पेश किया और उसके सरेंडर की बात कही, जबकि सभी को मालूम था, कि पहाड़ सिंह ने 12 अगस्त से पहले ही सरेंडर कर दिया था और उससे पुलिस पूछताछ कर रही है। उस पर महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ पुलिस ने 47 लाख का इनाम रखा था। जीपी सिंह के बंगले से छापे के दौरान पहाड़ सिंह के पुलिस के गिरफ्त में आने की इस पूरी कार्रवाई से जुड़े कुछ कागज ACB की टीम को मिले हैं। इसमें पैसों का कुछ हिसाब भी लिखा हुआ है।

पहाड़ सिंह नक्सलियों के शहरी नेटवर्क का भी हिस्सा था। नक्सलियों की भर्ती अभियान का तो वह प्रमुख था ही, उनके पैसों का हिसाब भी रखता था। जब उसने सरेंडर किया उस समय नोटबंदी हो गई थी। नक्सली नोटबंदी की दिक्कत से जूझ रहे थे। ऐसे में नक्सलियों ने अपने पुराने नोट बदलने के लिए पहाड़ सिंह के जरिए बाहर भेजे थे। चर्चा थी कि पहाड़ ने 6 करोड़ रुपए कवर्धा, राजनांदगांव और दुर्ग के कुछ बड़े कारोबारियों को बदलने के लिए पुराने नोट दिए थे। एक खुफिया जगह पर पुलिस ने पहाड़ और इसके परिवार को हिरासत में ले रखा था।

पुलिस ये पता लगाने में जुटी रही कि आखिर 6 करोड़ किस-किस कारोबारी को दिए गए। हालांकि इस बात की पुष्टि बाद में कभी भी पुलिस ने नहीं की, लेकिन आरोप यह भी लगे कि पुलिस को पहाड़ सिंह ने उन सभी कारोबारियों के नाम बता दिए थे, जिन्हें रुपए दिए गए थे। पर यह मामला कभी सामने नहीं आया। अब यदि तत्कालीन IG जीपी सिंह से इस सरेंडर मामले में पूछताछ होगी तो जरूर कुछ नए और चौंकाने वाले तथ्य सामने आ सकते हैं।