13 वर्षीय बच्ची से बलात्कार; कलेक्ट्रेट ट्रेजरी का बाबू गिरफ्तार

Chhattisgarh Crimes

बिलासपुर। 13 वर्षीय बच्ची का यौन शोषण करने वाले कलेक्ट्रेट के बाबू को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बाबू कलेक्ट्रेट में पदस्थ था जो अपनी पड़ोसी बच्ची को चॉकलेट बिस्किट का लालच देकर बहला फुसला कर बच्ची क शारीरिक शोषण किया करता था। 20 जुलाई को एफआईआर के बाद से आरोपी बाबू फरार था जिसे सिविल लाइन पुलिस ने शिर्डी महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया है।

मिली जानकारी के अनुसार अनिरुद्ध सिंह राजपूत (31) कलेक्ट्रेट के ट्रेजरी में सहायक ग्रेड-3 के पद पर पदस्थ था। वह मूलतः मुंगेली जिले के लोरमी थाना क्षेत्र के विचारपुर ग्राम का रहने वाला है औए यहां सिविल लाइन थाना क्षेत्र के फॉरेस्ट ऑफिस के सामने स्मार्ट सिटी रोड में शासकीय क्वार्टर में रहता है। उसने पड़ोस में रहने वाली 13 वर्षी बच्ची को चॉकलेट, बिस्कुट व गिफ्ट का लालच देकर अपने जाल में फंसा लिया था। और प्यार करता हूं बोल कर जबर्दस्ती शारिरीक शोषण भी किया करता था। आरोपी ने बच्ची के साथ कई बार सम्बंध स्थापित किये थे।

मामले का खुलासा तब हुआ जब आरोपी के द्वारा बच्ची को बार बार इंस्टाग्राम में सेक्स करने का मैसेज भेजा गया और उसे बच्ची के परिजनों ने देख लिया। तब उन्होंने बच्ची को विश्वास में लेकर पूछताछ की और सारा मामला खुल गया। परिजनों ने सिविल लाइन थाने में इसकी एफआईआर करवाई थी। एफआईआर के बाद से आरोपी फरार हो गया था। जिसे पुलिस ने अब जाकर गिरफ्तार कर लिया है।

मामले में सिविल लाइन थाने के उपनिरीक्षक धर्मेंद्र वैष्णव ने बताया कि 20 जुलाई को आरोपी बाबू के खिलाफ 376 (2) M भादवि ब धारा 4,6 पॉक्सो एक्ट व आईटी एक्ट 67 a के तहत एफआईआर दर्ज की गई थी। विवेचना में एक्ट्रोसिटी एक्ट भी जोड़ा गया। एफआईआर के बाद से बाबू फरार था। जिसे शिर्डी से गिरफ्तार कर लाया गया है।