9 साल से फरार, टेरर फंडिंग का अंतर्राज्यीय आरोपी झारखंड से गिरफ्तार

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. 9 साल से फरार टेरर फंडिंग के आरोपी को पुलिस ने झारखंड से गिरफ्तार किया है. आरोपी लंबे से समय से पुलिस को चकमा दे रहा था, लेकिन आखिरकार शातिर पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया.

दरअसल, 2013 में थाना खमतराई में टेरर फंडिंग का अपराध दर्ज किया गया था. प्रकरण में पूर्व में 6 आरोपी धीरज साव, जुबैर हुसैन, आयशा बानो, पप्पू मण्डल और राजू खान को गिरफ्तार किया जा चुका है. प्रकरण में न्यायालस ने आरोपी धीरज साव, जुबैर हुसैन और आयशा बानो को 10 साल कारावास की सजा दी है.

प्रकरण में आरोपी श्रवण कुमार मंडल 2013 से लगातार फरार चल रहा था. आरोपी श्रवण कुमार मण्डल के बैंक खाता में लाखों रूपये के लेन-देन का विवरण है. आरोपी श्रवण कुमार मण्डल अपने बैंक खाता से आतंकवादी संगठन सिमी इंडियन मुजाहीद्दीन से जुड़े अन्य लोगों के बैंक खातों में लाखों रूपये ट्रांसफर किया था.

श्रवण कुमार मण्डल को देवघर झारखण्ड से गिरफ्तार कर ट्रांजिट रिमाण्ड पर रायपुर लाया गया है. आरोपी से आतंकवादी संगठन से जुड़े अन्य लोगों के संबंध में विस्तृत जानकारी ली जा रही है.

आरोपी श्रवण कुमार मण्डल के विरूद्ध टेरर फंडिंग मामले में ई.डी. ने भी मामला दर्ज किया है. ई.डी. द्वारा दर्ज मामले में आरोपी ने उच्च न्यायालय में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी, जिसे उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया था.

आरोपी श्रवण कुमार मण्डल के कब्जे से 01 नग मोबाईल फोन, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस एवं 01 नग रेलवे टिकट जब्त किया गया है. आरोपियों के खिलाफ थाना खमतराई में अपराध क्रमांक 587/2013 धारा 17, 40 और अधिनियम 1987 एवं धारा 419 भादवि., 68 ग आई टी एक्ट का अपराध दर्ज किया गया है.