संसदीय सचिव विकास उपाध्याय के बाद मंत्री डहरिया और अरुण वोरा के नाम से ठगी की कोशिश, अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। छत्तीसगढ़ में शातिर ठग ने सूबे के तीन कांग्रेस नेताओं के नाम से ठगी की कोशिश को अंजाम दिया है। हालांकि शातिर ठग अपने नापाक मंसूबे में कामयाब नहीं हो पाया।

ठगी की ये कोशिश संसदीय सचिव विकास उपाध्याय के नाम से शुरू हुई। ठग ने ऑनलाइन ट्रांसफर एजेंसी से विकास उपाध्याय बनकर बात की। एजेंसी मालिक को जैसे ही इसकी भनक लगी उसने तत्काल घटना की जानकारी विधायक को दी। सरस्वती नगर थाने में अज्ञात ठग के खिलाफ इसकी शिकायत दर्ज कराई गई।

ठगी की दूसरी कोशिश दुर्ग से कांग्रेस विधायक अरुण वोरा के नाम से की गई। दुर्ग के प्रज्ञा च्वॉइस एवं लोक सेवा केंद्र के संचालक सुशील राजपूत से ठगी का प्रयास किया गया। यहां अनजान शख्स ने कॉल कर विधायक के नाम पर मुंबई में पैसे ट्रांसफर करने की बात कही। सेंटर संचालक ने दुर्ग कोतवाली में की इसकी लिखित शिकायत दर्ज कराई है। वहीं इस घटना के बाद विधायक ने लोगों से उनके नाम से आने वाले अनजान कॉल से सतर्क रहने की अपील भी की।

ठगी ती तीसरी कोशिश मंत्री शिवकुमार डहरिया के नाम से की गई। बैंक मित्र से मंत्री के नाम से पैसे ट्रांसफर करवाने का प्रयास किया गया। आरंग थाना में अज्ञात आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

तीनों मामलों को देखकर ऐसा लग रहा है कि आरोपी कोई एक ही शख्स है। शातिर भले ही अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो सका, लेकिन लोगों को ऐसी घटना से सतर्क रहने की जरुरत है।