बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल करेगी अश्वगंधा, जानें सेवन का सही तरीका

Chhattisgarh Crimes

शरीर में किसी भी चीज की अधिकता सेहत के लिए हानिकारक होती है। इन्हीं में एक यूरिक एसिड है। इसके बढ़े होने के कारण आपको कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। जैसे कि घुटनों, पैरों की उंगलियों और एड़ियों में अक्सर दर्द रहना या फिर सूजन का आ जाना। ऐसे में डॉक्टर के परामर्श के अनुसार दवाइयों के अलावा घरेलू नुस्खे भी बढ़े हुए यूरिक एसिड को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। इन घरेलू नुस्खों में से एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी अश्वगंधा भी है। जानें अश्वगंधा कैसे बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल करने का काम करती है। साथ ही इसके सेवन के तरीके के बारे में भी जानिए।

यूरिक एसिड कंट्रोल करेगा अश्वगंधा

अश्वगंधा एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है। ये कई बीमारियों में असरदार है। अगर आप यूरिक एसिड की समस्या से जूझ रहे हैं तो अश्वगंधा इस समस्या को भी नियंत्रित करने में कारगर है। इसके लिए बस आपको इसके इस्तेमाल के सही तरीके की जानकारी होनी चाहिए।

रोजाना अश्वगंधा का इस्तेमाल करना लाभकारी होगा

  • बस एक चम्मच अश्वगंधा पाउडर में एक चम्मच शहद को मिलाएं
  • गुनगुने दूध के साथ इसे रोजाना रात में सोने से पहले पीएं
  • ऐसा करने से बढ़े हुए यूरिक एसिड की समस्या नियंत्रित हो सकती है
  • गर्मी के मौसम में अश्वगंधा पाउडर की मात्रा कम ही इस्तेमाल करें

अश्वगंधा के सेवन के अन्य फायदे

वजन करे कम
बहुत ही कम लोग इस बात को जानते होंगे कि अश्वगंधा वजन कम करने में भी असरदार है। इसके लिए बस आप एक गिलास दूध में एक चम्मच अश्वगंधा को मिला लें। अगर आपको इसका सेवन ऐसे करने में दिक्कत हो रही है तो आप इसमें एक चम्मच शहद मिला सकते हैं। लेकिन शुगर पेशेंट शहद का इस्तेमाल करने से बचें।

कमजोरी होगी दूर
कई लोगों को किसी भी काम को करने में कमजोरी महसूस होती है। अगर आप भी कमजोरी की वजह से थकान महसूस करते हैं तो अश्वगंधा का सेवन करना आपके लिए लाभकारी होगा। इसके लिए बस आप रोजाना 2 ग्राम अश्वगंधा पाउडर के साथ 125 ग्राम त्रिकाटू पाउडर एक गिलास दूध में मिक्स करके पी लें। ऐसा करने से आपको आराम मिलेगा।

बीपी करेगी कंट्रोल
इसका सेवन कर काफी हद तक हाई बीपी की समस्या को कंट्रोल कर सकते हैं। बस आप 2 ग्राम अश्वगंधा पाउडर के साथ 125 ग्राम मोटी पिसती और 1 गिलास दूध के साथ लें। इसका सेवन करने से आपको फायदा होगा।

 

Disclaimer: यह जानकारी आयुर्वेदिक नुस्खों के आधार पर लिखी गई है।इनके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक का परामर्श जरूर लें।