बिजली दर में बढ़ोत्तरी को लेकर भाजपाइयों ने किया प्रदर्शन

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। छत्तीसगढ़ में बिजली की दर में बढ़ोत्तरी को लेकर सियासी बवाल शुरू हो गया है। भाजपा ने आज बिजली बिल की बढ़ोत्तरी का विरोध करते हुए रायपुर CSEB मुख्यालय का घेराव किया। रायपुर के डंगनिया स्थित CSEB दफ्तर के बाहरों की हजारों भाजपा, भाजयुमो और महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं ने बैरिकेट तोड़ दिया और CSEB मुख्यालय के अंदर भी दाखिल होने की कोशिश की। हालांकि मौजूद पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोकने की कोशिश की, इस दौरान दोनों तरफ से जमकर धक्का-मुकी भी हुई।

दरअसल 2 अगस्त को विद्युत विनयामक आयोग ने छत्तीसगढ़ में बिजली की बढ़ी हुई कीमतों का ऐलान किया था। तीन साल के बाद करीब 48 पैसे प्रति यूनिट बिजली बिल में बढ़ोत्तरी की गयी थी। उसी वक्त से भाजपा ने इसे एक बड़ा मुद्दा बनाते हुए विरोध का ऐलान किया था। आज हजारों की संख्या में पहुंचे बीजेपी कार्यकर्ताओं सीएसईबी दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया और फिर विरोध जताते हुए वहीं धरने पर बैठ गये।

पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल सहित अन्य भाजपा के शीर्ष नेताओं की अगुवाई में हुए बेहद आक्रामक प्रदर्शन हुआ। भाजपा का कहना है कि कोरोना की वजह से आज जहां लोग आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं, तो उस वक्त में बिजली की कीमतों में बढ़ोत्तरी की गयी है, जो जनता के साथ अन्याय है। सीएसईबी दफ्तर के अंदर जाने से रोकने के विरोध में भाजपायी बीच रोड पर ही धरने पर बैठ गये, जिसकी वजह से आवागमन भी काफी वक्त के लिए बाधित हो गया।