सदन में गूंजा अवैध रेत उत्खनन का मामला

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। रेत के अवैध उत्खनन मसले पर सदन में विपक्ष के सूर जमकर गूंजे। विपक्ष ने आरोप लगाया NGT के नियम का पालन नहीं हो रहा है, नियम क़ायदों को ताक पर रखा जा रहा है, शिवनाथ नदी की दिशा तक बदल जा रही है।

इस मसले पर अजय चंद्राकर ने कहा
“सरकार रेत माफिया को निर्देशित कर रही है..या रेत माफिया सरकार को निर्देशित कर रहे हैं.. सरकारी संरक्षण में रेत का अवैध उत्खनन हो रहा है”
सदन में रेत मसले पर भाजपा के आक्रामक तेवर को छजका के धर्मजीत सिंह का साथ मिला। धर्मजीत सिंह ने कहा
“रेत के नाम पर जंगलराज है.. शराब माफिया पहले से सक्रिय है..अधिकारी ट्रांसफर के डर से कुछ नहीं बोलते.. सरकारी संरक्षण में सत्ता पक्ष के लोग रेत का अवैध उत्खनन कर रहे हैं”
वरिष्ठ सदस्य डॉ रमन सिंह ने कहा
“सारे शराब के गुंडे रेत पर उतर चुके हैं.. पुलिस प्रशासन के संरक्षण में रेत का अवैध उत्खनन हो रहा है.. हाल यह है कि अवैध रेत उत्खनन की वजह से शिवनाथ नदी की दिशा ही बदल रही है”
विपक्ष इस मसले पर स्थगन के ज़रिए चर्चा की माँग करने लगा। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा
“अवैध उत्खनन को प्रोत्साहित करने के लिए टेंडर की प्रक्रिया की गई है.. पूरे प्रदेश में रेत का अवैध उत्खनन हो रहा है.. अधिकारी की हिम्मत नहीं कि कार्यवाही करे.. गाँव वालों के ख़िलाफ़ माफिया बर्बरता से व्यवहार कर रहे हैं”
विपक्ष के तीखे तेवर तब और तल्ख हुए जबकि स्थगन की सूचना को विचाराधीन रखा, इसके बाद विपक्ष ने नारेबाज़ी शुरु कर दी.. वहीं सत्ता पक्ष की ओर से भी विपक्ष तके विरुद्ध नारेबाज़ी शुरु हो गई।
नारेबाज़ी और शोरगुल के बीच आसंदी की ओर से व्यवस्था दी गई –
“किसी न किसी माध्यम से इस विषय पर चर्चा कराई जाएगी”