मंत्रालय में कैंटीन का ठेगा और विधानसभा में नौकरी लगवाने के नाम पर 1 लाख 95 हजार की ठगी

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। पंडरी थाना इलाके में किराना व्यवसायी के साथ ठगी हुई है. व्यापारी को मंत्रालय में कैंटीन का ठेका दिलाने और विधानसभा में नौकरी लगवाने का झांसा दिया गया. फिर एक लाख 95 हजार रुपए ऐंठ लिए गए. घटना की शिकायत के बाद पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है.

Chhattisgarh Crimes

जानकारी के अनुसार लोधीपारा निवासी रितेश जंघेल किराने का दुकान चलाता है. 2015 में उसके घर के पास मनेन्द्रगढ़ निवासी संतोष सोनी उर्फ बादल किराए से रहता था. वो सेकेंड हैंड गाड़ी की खरीदी बिक्री का काम करता था. इसी दौरा रितेश जंघेल की पहचान संतोष सोनी से हुई थी.

आरोपी साल 2018 में सीएम के साथ अपना फोटो दिखाकर मुख्यमंत्री के साथ अच्छा जान पहचान होना बताया था. जिससे वह उसके झांसे में आ गया. जिसके बाद आरोपी ने उसे मंत्रालय में कैंटीन का टेंडर दिलवाने के नाम से 75 हजार रुपए ले लिया. पीड़ित ने 45 हजार रुपए आनलाइन और 30 हजार रुपए नगद आरोपी को दे दिया. इसके अलावा उस दौरान विधानसभा में सहायक ग्रेड-3 का वैकेंसी निकला था. उसमें पीड़ित रितेश ने फार्म भरा था, उसमें भी नौकरी लगवा देने की बात कहकर स्वास्थ्य मंत्री के बंगले ले गया. वहां किसी सफल नाम के व्यक्ति से मुलाकात भी करवाई. वहां भी आरोपी उससे पैसा ले लिया. इस तरह 1 लाख 95 हजार रुपए ठेका दिलवाने और नौकरी लगाने के नाम पर ठगी की.

इस मामले में पंडरी थाना प्रभारी याकूब मेमन का कहना है कि आरोपी ने बड़े लोगों से संबंध होना बताकर पीड़ित को झांसे में लिया. पीड़ित की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया गया है. आरोपी फरार है, उसकी तलाश की जा रही है.