मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कांकेर में 342 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का किया लोकार्पण-शिलान्यास

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज कांकेर के गोविंदपुर में आयोजित आमसभा में 342 करोड़ रुपए के विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने 94 करोड़ रुपए के लागत के 95 विकास कार्यों का लोकार्पण तथा 248 करोड़ रुपए के 74 विकास कार्यों का भूमिपूजन किया। इस अवसर पर वन मंत्री मोहम्मद अकबर, उद्योग मंत्री कवासी लखमा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं कांकेर जिले के प्रभारी मंत्री गुरू रुद्रकुमार, विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज मंडावी, संसदीय सचिव शिशुपाल शोरी, विधायक मोहन मरकाम और अनूप नाग, मुख्यमंत्री के सलाहकार राजेश तिवारी सहित अनेक जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने जिन कार्यो का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से उन्होंने कांकेर, सरोना, चंवाड़,बांसला, कोदागांव जनजाति विद्यार्थियों की सुविधा के लिए 21 करोड़ 14 लाख रूपए की लागत से छात्रावास भवन, तीन करोड़ 48 लाख रुपए की लागत से निर्मित लाईवलीहुड कॉलेज भवन, 9 करोड़ 78 लाख रूपए की लागत से 5 सड़कों, एक करोड़ 54 लाख रुपए से 08 एम्बुलेंस और पखांजूर में 05 करोड़ 88 लाख रुपए की लागत से निर्मित 50 बिस्तर एम.सी.एच. विंग निर्माण, ग्राम मनकेशरी, आंवरी और कलगांव में 92 लाख रूपए की लागत से नलजल प्रदाय योजना एवं अन्य कार्यों, 3 करोड़ 72 लाख रूपए की लागत से पूर्व एवं पश्चिम भानुप्रतापुर वन मण्डल के अंतर्गत 7 वन धन केन्द्र 42 नग वर्कशेड और एक सामुदायिक भवन, सिंगारभाठा में लगभग 3 करोड़ रूपए की लागत से कृषि महाविद्यालय बालक छात्रावास भवन और कृषक छात्रावास भवन, कांकेर में 54 लाख रुपए की लागत से किशोर न्याय बोर्ड एवं बालक कल्याण समिति भवन, नरहरपुर, कोयलीबेड़ा, भानुप्रतापपुर और दुगूर्कोंदल में 9 करोड़ 80 लाख रूपए की लागत से 88 नग आवासीय भवन, ग्राम अभनपुर और कोटतरा में 95-95 लाख रुपए की लागत से निर्मित बालक उच्चतर माध्यमिक शाला भवन, लाईवलीहुड कॉलेज कांकेर में एक करोड़ 28 लाख रुपए की लागत से निर्मित 50 सीटर कन्या छात्रावास, अंतागढ़ में एक करोड़ 14 लाख रुपए की लागत से निर्मित ट्रांजिस्ट हॉस्टल भवन, चार करोड़ 87 लाख रुपए की लागत से जीरमतराई नाला और घोड़ाझार नाला पर छह करोड़ आठ लाख रुपए की लागत से निर्मित उच्चस्तरीय पुल, पीढ़ापाल से मुरागांव मार्ग में एक करोड़ 47 लाख रुपए की लागत से बनाये गये वृहद पुल, पीढ़ापाल से मुरागांव मार्ग पर दो करोड़ 57 लाख रुपए और पीढ़ापाल से मुरागांव मार्ग पर एक करोड़ 95 लाख रुपए की लागत से निर्मित वृहद पुल, 2 करोड़ 29 लाख रूपए की लागत से विभिन्न स्थानों पर 29 नग सोलर हाई मास्क लाईट और रेल्वे ओवर ब्रिज भानुप्रतापपुर में सोलर संयत्र के माध्यम से स्ट्रीट लाईट के कार्य शामिल हैं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जिन कार्यो का शिलान्यास किया उनमें मुख्य रूप से विभिन्न स्थानों में आवागमन सुविधा के लिए 166 करोड़ 51 लाख रूपए की लागत से 32 सड़कों, 9 करोड़ 33 लाख रुपए की लागत से चारामा आवर्धन जल प्रदाय योजना, नगर पंचायत पखांजूर में 17 करोड़ 06 लाख रुपए की लागत से जल आवर्धन योजना और 19 लाख रुपए की लागत से गौठान निर्माण, 13 करोड़ 22 लाख रुपए की लागत से कोरेनार नाला में उच्चस्तरीय पुल निर्माण, दुगूर्कोंदल अंतर्गत 01 करोड़ रुपए की लागत से ट्रॉंजिट हास्टल , 01 करोड़ 17 लाख रुपए से नगर पालिका क्षेत्र कांकेर के शीतला तालाब सौंदर्यीकरण कार्य, 91 लाख रूपए की लागत से चार स्थानों में पहुंच मार्ग निर्माण , गोडरी, सरण्डी और बड़गांव में 30-30 लाख रुपए की लागत से उप स्वास्थ्य केन्द्र भवन निर्माण, 4 करोड़ 86 लाख रूपए की लागत से विभिन्न स्थानों में सोलर ड्यूल पंप की स्थापना शामिल हैं। इसी प्रकार उन्होंने 16 करोड़ 50 लाख रुपए की लागत से कांकेर में सीवरेज उपचार संयंत्र की स्थापना और कोयलीबेड़ा में 02 करोड़ 50 लाख रुपए की लागत से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन,6 करोड़ 91 लाख रूपए की लागत से नहर निर्माण एवं जीर्णाेद्धार, 5 करोड़ 70 लाख रूपए की लागत के 02 रिटेनिंग वाल , 02 करोड़ 92 लाख रुपए की लागत से रेंगाटोला मदले एवं मुंगुरपारा मदले में स्टाप डेम एवं पुलिया निर्माण , 02 करोड़ 94 लाख रुपए के दमकसा एनीकट कम काजवे निर्माण, वन परिक्षेत्र अंतागढ़ अंतर्गत 22 लाख रुपए की लागत से विभिन्न निर्माण कार्य, 06 नालों में 05 करोड़ 49 लाख रुपए की लागत से नरवा विकास कार्य का भूमिपूजन किया।