शिक्षक की हत्या का खुलासा; लूट के बाद आरोपियों ने फेंक दिया था पुल से नीचे, 3 आरोपी और 1 नाबालिग गिरफ़्तार

Chhattisgarh Crimes

धमतरी। संविदा प्राध्यापक की खून से लथपथ लाश मिलने के मामले को धमतरी मगरलोड पुलिस ने सुलझा लिया है। इस मामले में तीन युवकों और एक नाबालिग को गिरफ़्तार किया गया। चारों आरोपियों ने लूटपाट करने के दौरान प्राध्यापक हीराधर को पुल से नीचे फेंक दिया था। फिलहाल पुलिस ने सभी को गिरफ़्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेज दिया है।

जानकारी के मुताबिक, 16 सितम्बर को धमतरी मगरलोड थाना के करेली छोटी मोड़ के पहले पुल के नीचे खून से लथपथ संविदा प्राध्यापक की लाश मिली थी। घटना की जानकारी मिलते ही मगरलोड थाना पुलिस मौके पर पहुंची और शिक्षक की शिनाख्त हीराधर साहू 35 वर्ष ग्राम करेलीक रूप में की गई। साथ ही घटना स्थल में मृतक की मोटरसाइकिल और हेलमेट मिली। पुलिस ने मामले में हत्या का अपराध दर्ज कर इसकी जाँच शुरू की।

Chhattisgarh Crimes

जांच में पता चला कि 15 सितम्बर गुरुवार को मृतक हीराधर साहू कॉलेज से आने के बाद मेघा गया था और रात 8.30 बजे मेघा के लोगों के साथ देखा भी गया था। पुलिस ने उन संदिग्ध लोगों से बारीकी से पूछताछ की, जो उस रात मृतक के साथ देखे गये थे। पहले तो उन लोगों ने पुलिस को गुमराह किया, फिर जब पुलिस ने आरोपियों से कड़ाई से घटना के संबंध में पूछताछ की तो हत्या करने की बात कबूल की। पुलिस टीम ने कॉलेज प्राध्यापक की हत्या के मामले में एक नाबालिग सहित चार आरोपी को गिरफ्तार किया।

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि रामचंद्र भारती, गिरेश निषाद, चिरौंजी पटेल व नाबालिग नशे के आदी थे और शराब व गांजा पीने के लिए पैसा नहीं था तो चारों ने मिलकर सूनसान जगह में हीराधर साहू को लूटने का योजना बनाई। मुख्य आरोपी रामचंद्र भारती को पता था कि हीराधर साहू किस समय घर जाता है। सुनियोजित ढंग से आरोपी रामचंद्र भारती ने हीराधर साहू से लिफ्ट मांगकर करेली छोटी के तरफ आ रहा था। योजनानुसार बाकी दोस्त गिरेश निषाद, चिरौंजी पटेल व नाबालिग पहले से पुल के पास इंतजार कर रहे थे। जैसे ही मोटरसाइकिल से हीराधर साहू पुल के पास पहुँचा। आरोपियों ने संविदा प्राध्यापक से मारपीट की, उसके जेब मे रखे मोबाईल व पर्स को छीन लिया। प्राध्यापक द्वारा पहचाने जाने की डर से रामचन्द्र भारती ने जान से मारने की नीयत से प्राध्यापक को पुल के नीचे फेंक दिया तथा सिर में पत्थर से संघातिक वार कर मार डाला, बाकी तीन दोस्त सड़क में खड़े होकर निगरानी कर रहे थे।

चारों ने घटना को अंजाम देने के बाद मोटरसाइकिल व हेलमेट को लाश के पास छोड़कर चले गए और पुल के आगे गांव के तालाब पास लुटे हुये रूपये का बंटवारा कर अपने-अपने घर चले गये। पुलिस ने मोबाईल व पर्स को मुख्य आरोपी रामचंद्र भारती के घर से बरामद किया है। आरोपी रामचन्द्र भारती,गिरेश निषाद, चिरौंजी पटेल एवं विधि से संघर्षरत बालक के विरुद्ध थाना मगरलोड के अपराध क्र.229/22 धारा 302, 201,120(बी),34 भादवि० के तहत विधिवत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड में भेजा जा रहा है।