नाबालिग लड़की का अपहरण करने वाले बाप-बेटे को जेल

Chhattisgarh Crimes

जगदलपुर। बस्तर थाना क्षेत्र में एक अजीब ही मामला सामने आया है, जिस नाबालिग लड़की के अपहरण और बलात्कार के मामले में बेटा जेल की हवा खा रहा है. उसी आरोपी के पिता ने भी उसी नाबालिग का फिर से अपहरण कर लिया था, लेकिन पुलिस ने कड़ी मशक्कत के बाद नाबालिग को सुरक्षित ढूंढ निकाला और आरोपी पिता को भी उसके बेटे के पास जेल भेज दिया है. बस्तर टीआई सुरित सारथी ने बताया कि पीड़िता के परिजनों ने बीते 14 मई को रिपोर्ट दर्ज कराई थी. उनकी नाबालिग बेटी रात 8 बजे के बाद से घर से गायब हो गई है. आसपास पता करने पर भी कोई जानकारी नहीं मिल रही है. रिपोर्ट दर्ज होने के बाद बस्तर पुलिस अधीक्षक जितेंद्र सिंह मीणा और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओपी शर्मा जांच के निर्देश दिए.

भानपुरी एसडीओपी उदयन बेहार के मार्गदर्शन में पुलिस की एक टीम का गठन किया गया. इसके बाद पुलिस की नाबालिग की पतासाजी में जुट गई. पुलिस की टीम ने बीते 4 अगस्त को नाबालिग को ओडिशा के कोसागुमड़ा क्षेत्र में से सुरक्षित ढूंढ निकाला. नाबालिग ने पुलिस को बताया कि बनियागांव निवासी डमरूधर मानिकपुरी (46) ने उसे बहला फुसलाकर और जेल में बंद उसके बेटे निर्मल मानिकपुरी से शादी करवाने का झांसा देकर ले गया था. नाबालिग से जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने आरोपी डमरूधर मानिकपुरी को उसके निवास से गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 363, 366 के तहत मामला दर्ज किया है.