छत्तीसगढ़ में फार्मूला तैयार : एक सेंटर पर चार कैटेगरी में लगेगा टीका

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के निर्देश के बाद राज्य सरकार ने कोरोना टीकाकरण में प्राथमिकता का नया फार्मूला तय कर लिया है। इसके तहत अब टीकाकरण के एक केंद्र पर एक साथ चार कैटेगरी में टीका लगाया जाएगा। अन्त्योदय, गरीबी रेखा से नीचे और सामान्य श्रेणी के लोगों के अलावा सरकार ने गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों, सरकारी कर्मचारियों, पत्रकारों और संक्रमण के सबसे अधिक खतरे वाले कामगारों के लिए चौथी कैटेगरी बनाई है। इस फार्मूले के साथ छत्तीसगढ़ कोरोना टीकाकरण में इस तरह आनुपातिक वर्गीकरण करने वाला पहला राज्य हो गया है।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया, “टीकाकरण का अनुपात तय हो गया है जल्द ही इसके आदेश जारी हो जाएंगे।” प्रदेश में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए नि:शुल्क टीकाकरण अभियान 1 मई से शुरू हुआ है। सरकार ने सबसे पहले अन्त्योदय राशनकार्ड वालों को टीका लगाना शुरू कर दिया था।

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने इसको उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी। 4 मई को अदालत ने कहा कि इस तरह टीकाकरण गलत है। बीमारी अमीरी-गरीबी देखकर नहीं आती। ऐसे में सरकार को सभी वर्गों में अनुपात तय करना चाहिए। उसके बाद टीकाकरण को रोक दिया गया। बाद में उच्च न्यायालय के कहने पर शनिवार से फिर टीकाकरण शुरू हुआ। इस बीच मुख्य सचिव अमिताभ जैन की अध्यक्षता में बनी सचिवों की उच्च स्तरीय समिति ने टीकाकरण में सभी वर्गों का यह अनुपात तय किया है।

अब यह होगा अनुपात

वर्क फोर्स + गंभीर बीमारी से पीड़ित– 20%
गरीबी रेखा से नीचे – 52%
अन्त्योदय – 16%
गरीबी रेखा से ऊपर – 12%

कल तक 79,797 को लग चुका था टीका

प्रदेश में 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों का टीकाकरण 1 मई से चल रहा है। बीच में यह दो दिन बंद भी रहा। शनिवार से टीकाकरण फिर से शुरू हुआ। कल तक प्रदेश के 79 हजार 797 लोगों को कोरोना टीके की पहली डोज लग चुकी थी। अब तक हुए कुल टीकाकरण की बात करें तो प्रदेश में 58 लाख 44 हजार 835 टीके लगाए जा चुके हैं। इनमें से 8 लाख 85 हजार 905 लोगों को टीके की दोनों डोज लगाई जा चुकी है। 49 लाख 58 हजार 930 काे टीके की पहली डोज ही लग पाई है।