भारत में कितनी होगी फाइजर के टीके की कीमत? अमेरिकी कंपनी ने कहा- नहीं कमाएंगे मुनाफा

Chhattisgarh Crimes

नई दिल्ली। अमेरिकी दवा कंपनी फाइजर ने कहा है कि इसने भारत सरकार को अपने कोविड टीके की आपूर्ति के लिए बिना मुनाफे वाली कीमत की पेशकश की है। कंपनी के एक प्रवक्ता ने गुरुवार को यह दावा किया। उन्होंने कहा कि इसके लिए सरकार से बातचीत चल रही है।

फाइजर के प्रवक्ता ने एक बयान जारी करके कहा, ”भारत के लिए फाइजर ने सरकार को इसके टीकाकरण अभियान के लिए ‘नॉट फॉर प्रॉफिट’ कीमत की पेशकश की है। हम सरकार के साथ बातचीत कर रहे हैं भारत के टीकाकरण अभियान में वैक्सीन उपलब्ध करवाने को प्रतिबद्ध हैं।” भारत में अमेरिकी वैक्सीन की कीमत को लेकर आई कुछ खबरों को खारिज करते हुए कंपनी ने यह बयान जारी किया है।

कंपनी ने कहा है कि इसने उच्च, मध्यम और निम्न आय वाले देशों के लिए अलग-अलग कीमत रखी है और दुनिया भर के सभी लोगों तक कोविड-19 वैक्सीन की समान और सस्ती पहुंच के लिए प्रतिबद्धता जताई। कंपनी ने कहा, ”दुनियाभर में मौजूदा महामारी के हालात में फाइजर ने टीकाकरण अभियानों के लिए सिर्फ सरकारों को वैक्सीन आपूर्ति करने को प्राथमिकता दी है। भारत में भी हमारा यही रुख रहेगा।”

टीकाकरण अभियान को तेज करने के लिए भारत ने पिछले सप्ताह विदेशी टीकों के लिए भी रास्ता खोल दिया। बताया जा रहा है कि मोडेरना, फाइजर और जॉनसन एंड जॉनसन के उत्पादक भारत में आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी के लिए सरकार से बातचीत कर रहे हैं।

फाइजर कोरोना टीके के लिए अमेरिकी सरकार से प्रति डोज 19.5 डॉलर (करीब 1500 रुपए) चार्ज कर रही है यूरोपीय यूनियन के लिए कंपनी ने 2022-23 के लिए करीब 1700 रुपए प्रति डोज का चार्ज लिया है।