रक्षा बंधन पर डायबिटीज के मरीज मीठा कैसे खाएं? इन आसान टिप्स को आजमाएं

Chhattisgarh Crimes

बिना मिठाइयों के त्योहार का मज़ा फीका रह जाता चाहे। चाहे दिवाली का पर्व हो या फिर रक्षा बंधन, इन खास अवसरों पर लोगों के घर में तरह-तरह की मिठाइयां आती हैं। कुछ लोग घर पर ही मिठाई बना लेते हैं तो कई लोग मार्केट से रेडीमेड मिठाई लेकर आते हैं। फेस्टिवल की स्वीट डिशेज देखकर मन ललचा जाता है, लेकिन इन मौकों पर सबसे ज्यादा दिक्कत डायबिटीज के मरीजों को होती है।

कहा जाता है कि डायबिटीज यानि मधुमेह के मरीज मीठा नहीं खा सकते, लेकिन हम आपको ऐसे टिप्स बताने जा रहे हैं, जिससे आपको अपना मन मसोसने की जरूरत नहीं पड़ेगी और ऐसे लोग भी मीठा खाकर त्योहार मना सकेंगे। आपको बता दें कि मधुमेह के मरीज मीठा खा सकते हैं, लेकिन इसे मॉडरेशन में खाना बहुत जरूरी है। इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि मीठा खाने से आपके ब्लड शुगर का लेवल प्रभावित न हो। अब मार्केट में डायबिटीज पेशेंट के लिए शुगर फ्री मिठाई भी बिकने लगी हैं। इन्हें आप आराम से खा सकते हैं। हालांकि, आपको इस बात का ध्यान रखने की जरूरत है कि शुगर फ्री मिठाई भी ज्यादा नहीं खानी चाहिए।

घर की बनी हुई मिठाई खाएं

मार्केट की बजाए आप घर की बनी हुई मिठाई खाएं। ये सेहत के लिए भी फायदेमंद होती है। बस यहां ध्यान रखने वाली बात ये है कि घर पर बनी मिठाई भी में ज्यादा मीठापन न हो। चीनी का कम से कम इस्तेमाल किया जाए। साथ ही घी और ड्राई फ्रूट्स का यूज ज्यादा करें।

अंजीर की मिठाई

अंजीर सेहत के लिए बहुत ही ज्यादा लाभदायक होता है। ये पाचन तंत्र में सुधार करता है। साथ ही मधुमेह को भी नियंत्रित करता है। ये मिठाई काजू, बादाम, पिस्ता, अंजीर, घी और शहद से बनाई जाती है। ये स्वाद के साथ-साथ सेहत का भी ध्यान रखती है।

डार्क चॉकलेट

शुगर के मरीज डार्क चॉकलेट से बनीं डिसर्ट को खा सकते हैं। इसमें कोको ज्यादा और चीनी का कम इस्तेमाल होता है। ये दिल के लिए भी काफी फायदेमंद होता है। इसके साथ ही आपका मीठा खाने का मन करे तो आप कुकीज या मिठाई की बजाए फल भी खा सकते हैं। ये आपकी सेहत के लिए भी फायेदमंद होगा।

Disclaimer: लेख में उल्लिखित सुझाव केवल सामान्य जानकारी के उद्देश्य से हैं और इसे पेशेवर चिकित्सा सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। कोई भी फिटनेस व्यवस्था या चिकित्सकीय सलाह शुरू करने से पहले कृपया डॉक्टर से सलाह लें।