पहली डोज के बाद अगर मैं संक्रमित हो गया तो… कोविड की दूसरी डोज को लेकर उठ रहे ऐसे ही 10 सवालों के ये हैं सही जवाब

Chhattisgarh Crimes

नई दिल्ली। देश में टीकाकरण अभियान शुरू हुए तीन महीने से ज्यादा हो चुके हैं। कई लोग टीके की दोनों खुराक ले चुके हैं और कई लोगों की दूसरी खुराक का नंबर आ गया है। हालांकि इसी बीच कोरोना की दूसरी लहर ने बड़ी तेजी से लोगों को अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। इसके चलते कई लोगों की दूसरी डोज लेट हो गई है। कुछ ऐसे भी हैं जो एक टीका लेने के बाद संक्रमित हो गए। ऐसे में दूसरी डोज को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के मेडिसिन व चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर विक्रम सिंह ने ऐसे दस सवालों के जवाब दिए हैं।

Chhattisgarh Crimes

-सवाल
दोनों डोज का तय शेड्यूल क्या है ?
जवाब
पहली डोज के आठवें सप्ताह में कभी भी वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा सकते हैं।

-सवाल
क्या आप कोविशील्ड की दूसरी डोज को 8 सप्ताह से ज्यादा और कोवैक्सीन को 6 सप्ताह से ज्यादा देर में ले सकते हैं ?
जवाब
तय समय पर ही वैक्सीन लगवाएं। वैज्ञानिक शोध में यह पाया है कि तय समय पर वैक्सीन की दोनों डोज लेने से एंटीबॉडी ज्यादा मात्रा में बनती हैं। वायरस से मुकाबला करने में अधिक कारगर साबित होती हैं।

सवाल
अगर पहली डोज के बाद मैं संक्रमित हो गया तो क्या करना चाहिए?

जवाब
संक्रमित होने से घबराने की जरूरत नहीं है। यदि संक्रमण के बाद लक्षण नहीं हैं तो दूसरी डोज डेढ़ से दो माह बाद लगवा सकते हैं।

सवाल
दोनों डोज लगने के कितने दिन बाद मेरे शरीर में प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो जाएगी?

जवाब
पहली डोज से 60 प्रतिशत प्रतिरोधक क्षमता बनती है। दूसरी डोज से 80 प्रतिशत प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है। दूसरी डोज के साथ ही ज्यादा मात्रा में एंटीबॉडी बनाती है। दूसरी डोज लगने के दो सप्ताह बाद लोगों में गंभीर संक्रमण की गुंजाइश बहुत कम होती है।

सवाल
क्या मैं एक टीका कोविशील्ड और दूसरा कोवैक्सीन का लगवा सकता हूं।
जवाब
जी नहीं। अभी तक ऐसा प्रावधान नहीं किया गया है। पहली डोज जिसकी होगी दूसरी भी उसी की लगवानी होगी। दोनों वैक्सीन की कार्यविधि अलग-अलग है।

सवाल
अगर दूसरी डोज के लिए स्लॉट ही नहीं मिल रहा तो क्या करें ?

जवाब
दूसरी डोज के लिए स्लॉट पहले से तय हो जाता है। कहीं भी अस्पताल में जाकर टीका लगवा सकते हैं।

सवाल
एक कंपनीं की दोनों डोज लेने के बाद क्या किसी दूसरी कंपनी का टीका भी लिया जा सकता है, अगर हां तो कितने दिन बाद?

जवाब
वैक्सीन की दोनों डोज एक साल तक काम करती हैं। एक साल के बाद दूसरी कंपनी की वैक्सीन का चयन किया जा सकता है। हालांकि अभी ऐसा कोई प्रावधान नहीं किया गया है। लिहाजा एक ही विधा से काम करने वाली वैक्सीन का चुनाव करें।

सवाल
अगर दूसरी डोज लेने के तुरंत बाद कोरोना हो गया तो क्या वो डोज बेकार हो गई?

जवाब
बिलकुल नहीं। वैक्सीन लगने के बाद उतनी मात्रा में एंटीबॉडी नहीं बनती है। रोगों से लड़ने की प्रक्रिया तेज हो जाती है। इसलिए संक्रमण होने पर घबराएं नहीं। ठीक होने के एक महीने बाद वैक्सीन की दूसरी डोज ले सकते हैं।

सवाल
क्या महिलाएं महावारी के दौरान टीके की दूसरी डोज ले सकती हैं?

जवाब
हां माहवारी का वैक्सीन से कोई वास्ता नहीं है। वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा सकती हैं।

सवाल
टीका लगवाने के बाद क्या कसरत कर सकते हैं, अगर हां तो कितने दिन बाद?

जवाब
कसरत का वैक्सीन से कोई लेना-देना नहीं है। वैक्सीन लगवाने के बाद कुछ लोगों को हल्का बुखार व बदन दर्द हो सकता है। ठीक होने के बाद व्यक्ति कसरत कर सकता है।