जशपुर में दो बच्चों के साथ उफनते नाले में बह गई महिला, एक बच्चे का मिला शव

बाजार से लौटते वक्त जलस्तर बढऩे से हुआ हादसा, तलाश जारी

Chhattisgarh Crimes

जशपुर। जिले में एक महिला अपने दो बच्चों के साथ एक नाले में बह गई। वह बाजार से वापस लौटते वक्त नाला पार कर रही थी। इसी दौरान नाले का जलस्तर बढ़ा हुआ था। उसे पता ही नहीं चल सका और वह बह गई। मामले की जानकारी तब सामने आ सकी है। जब एक बच्चे का शव कुछ दूर में मिला है। पंडरापाठ चौकी क्षेत्र के भडिय़ा गांव का है। सराईपानी निवासी सुमित्रा बाई पति मुन्ना (30) पहाड़ी कोरवा जनजाति समुदाय से है।

सुमित्रा शनिवार को अपने आठ साल के बेटे मंगल साय और एक 10 महीने के बच्चे को पीठ पर बांधकर ग्राम भडिय़ा में लगे साप्ताहिक बाजार में पहुंची थी। शाम करीब 5 बजे महिला साप्ताहिक बाजार से अपने गांव वापस लौट रही थी। रास्ते में एक पहाड़ी नाले को पार करना होता है। पता चला है कि शनिवार की दोपहर को हुई बारिश के बाद इस नाले में पहाड़ का पानी उतर आया था। नाले का जल स्तर बढ़ गया था। महिला नाले को पार करने के दौरान तेज बहाव में दोनों बच्चों के साथ बह गई। जिसकी खबर किसी को नहीं हुई थी।

एक किलोमीटर दूर मिला शव

बताया जा रहा है कि मंगल साय का शव ग्राम भडिय़ा के पास नदी किनारे मिला। घटनास्थल से करीब एक किलोमीटर दूर उसका शव मिला था। शव आस-पास के लोगों ने देखा था। जिसके बाद आस-पास के गांव के लोगों को बुलाया गया। फिर बच्चे की पहचान कराई। बच्चे की पहचान उसके पिता मुन्ना ने की है। मुन्ना ने बताया कि मंगल साय अपनी मां के साथ बाजार आया था। इसके बाद गांव के सरपंच, सचिव व ग्रामीणों ने अंदाजा लगाया कि जिस स्थान से पहाड़ी नाले को पार करते हैं, उस स्थान से तीनों पानी के तेज बहाव में बह गए होंगे। देर शाम तक ग्रामीणों की खोजबीन में महिला की साड़ी और साल मिला है। मुन्ना ने साड़ी व बच्चे को पीठ में बांधने वाले साल की पहचान कर ली है। पुलिस की टीम भी देर शाम को मौके पर पहुंची थी।