नवाखाई पर्व पर हुआ कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन, युवाओं ने दिखाया दम

Chhattisgarh Crimes

मैनपुर। गरियाबंद जिले के विकासखंड मैनपुर अंतर्गत राजा पड़ाव क्षेत्र के कोयावंशी भूम काल युवा शक्ति ग्राम गोना के युवाओ के द्वारा नवाखाई ठाकुर जोहरानी के उपलक्ष्य में 16 सितंबर को कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। क्षेत्र में पहली बार कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन को देखते हुए खासकर के युवाओं में ज्यादा उत्साह उमंग तो वही खासे भीड़ के बीच कबड्डी प्रतियोगिता का दर्शकों के द्वारा देर शाम तक खूब आनंद लिया गया। अतिथियों के द्वारा आयोजन का शुभारंभ प्रकृति देव बड़ादेव के पूजन अर्चना के पश्चात की गई।

इस प्रतियोगिता में अरसी, कन्हार, बरदूला, राजपुर, जिडा़र, गरहाडीह, गौरगाँव, शुक्लाभाँठा ,कोकडी़ , शोभा, करेली ,लारीपारा , गोना के खिलाड़ियों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया गया। आयोजन मे अध्यक्षता कर रहे ग्राम पंचायत गोना के सरपंच सुनील कुमार मरकाम ने खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन करते हुए अपने संबोधन में कहा कि कबड्डी द्वारा शारीरिक विकास के साथ-साथ मानसिक विकास होता है। नियम बद्ध होकर खेलने से अनुशासन एवं नियम पालन करने की प्रवृत्ति उत्पन्न होती है। क्षेत्र में पहली बार कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन हो रहा है। आने वाला समय में कबड्डी को विशेष महत्व देते हुए बृहद रूप में आयोजन करने की बात कही गई।

मुख्य अतिथि की आसंदी से प्रबंधक सोसाइटी कोयबा भीखम मरकाम ने कहा कि खेल स्वास्थ्य के लिए जरूरी है। शारीरिक ताजगी के साथ ही शरीर चुस्त-दुरुस्त होते हुए मन मस्तिष्क में ताजगी महसूस होता है। तो वही उपसरपंच ग्राम पंचायत शोभा संजय देवंशी ने कबड्डी को भारत का एक पुराना और पारंपरिक शारीरिक खेल बताते हुए ग्रामीण अंचलों में जोश और जुनून के साथ इस खेल को खेले जाने की बात कही गई। कबड्डी प्रतियोगिता में प्रथम ग्राम बरदूला, द्वितीय गरहाडीह , तृतीय अरसीकन्हार, चतुर्थ शुक्लाभाँठा को अतिथियों के द्वारा सहयोग राशि प्रदान किया गया।

कबड्डी प्रतियोगिता कार्यक्रम को सफल बनाने में ग्राम पंचायत गोना के सरपंच सुनील कुमार मरकाम, प्रबंधक सोसायटी कोयबा भीखम मरकाम, उपसरपंच उमेश कुमार मरकाम, मेहतर सिंह नेताम,भादू राम मरकाम,वार्ड पंच कमल नेताम, परमानंद नेताम,डिकेश नेताम, सुभाष नेताम,जितेंद्र नेताम, मुकेश मरकाम, रोहन नेताम, सुदेश्वर मरकाम,गोपाल मरकाम,कुलदीप मरकाम,कन्हैया नेताम,टीकम मरकाम, रोहित नेताम,तोरण मरकाम,सुमन मरकाम,कृष्णा नेताम,दानेश्वर मरकाम,गोपाल मरकाम,गोविंद नेताम,धनेश नेताम सहित ग्रामीणों का विशेष सहयोग एवं योगदान रहा।