पूरे महाराष्ट्र में लग सकता है लॉकडाउन! अजित पवार बोले- 2 अप्रैल तक देखेंगे हालात

Chhattisgarh Crimes

मुंबई. पूरे देश में एक बार फिर कोरोना का संक्रमण तेजी से फैलने लगा है. कोरोना से सबसे ज्‍यादा प्रभावित महाराष्‍ट्र दिखाई दे रहा है. महाराष्‍ट्र में हर दिन कोरोना के 30 हजार से ज्‍यादा मामले सामने आ रहे हैं. महाराष्‍ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राज्‍य के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने बड़ा बयान दिया है. पुणे में मीडिया से बात करते हुए अजित पवार ने कहा अगर राज्‍य में जैसी स्थिति चल रही है, वैसे ही हालात रहे तो पूरे महाराष्‍ट्र में लॉकडाउन लगाया जा सकता है. हालांकि उन्‍होंने ये भी साफ किया कि हम राज्‍य में बढ़ रहे कोरोना के मामलों को मॉनिटर कर रहे हैं, 2 अप्रैल तक नज़र रखी जाएगी.

अजित पवार ने कहा कि महाराष्‍ट्र में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, इसके बावजूद लोग कोरोना गाइडलाइंस का पालन नहीं कर रहे हैं. अगर हालात ऐसे ही रहे तो सरकार के पास लॉकडाउन के अलावा कोई चारा नहीं बचेगा. इस मौके पर पवार ने कोरोना की नई गाइलाइंस का भी ऐलान किया. उन्‍होंने बताया कि कोरोना की नई गाइडलाइन के मुताबिक मॉल, मार्केट, सिनेमा हॉल को अभी 50 फीसदी क्षमता के साथ ही काम करना होगा. इसके साथ ही शादी समारोह में एक बार फिर केवल 50 लोगों को ही आने की इजाजत दी जाएगी.

इसी तरह अंतिम संस्‍कार में केवल 20 लोग ही शामिल होंगे. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अस्पतालों में एक बार फिर कोरोना मरीजों के लिए बेड रिजर्व किए जा रहे हैं, प्राइवेट अस्पतालों से भी 50 फीसदी बेड रिजर्व रखने को कहा गया है. पवार ने कहा कि कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर मेडिकल स्टाफ और अन्य अधिकारियों से भी बात की गई है और सभी का यही कहना है कि अगर हालात ऐसे ही रहे तो लॉकडाउन ही एकमात्र विकल्‍प होगा.

अजित पवार ने कहा कि अगर लॉकडाउन से बचना है तो लोगों को इस ओर सोचना होगा. सरकार के प्रयास के साथ ही लोगों को भी जागरूक होने की जरूरत है. होली पर विशेष रूप से ध्‍यान रखने की जरूरत है नहीं तो ये आंकड़े और विस्‍फोटक हो सकते हैं. मुंबई में अब किसी भी मॉल में एंट्री के लिए एंटीजन टेस्ट कराना जरूरी होगा.