मरवाही पहुंच रहे हैं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सहित कांग्रेस के 40 से अधिक विधायक

Chhattisgarh Crimes

पेण्ड्रा। कांग्रेस सरकार में चल रही राजनीतिक उठापटक के बीच मरवाही एक बड़ी सियासी जुटान का गवाह बन रहा है। कांग्रेस के 40 से अधिक विधायक मरवाही पहुंच गए हैं। वे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ मरवाही विधायक डॉ. केके ध्रुव के घर जाएंगे। मौका डॉ. ध्रुव के बेटे दशगात्र का है, लेकिन प्रदेश की मौजूदा राजनीतिक परिस्थितियों को देखते हुए इस जमावड़े को महत्वपूर्ण माना जा रहा है। हाल ही में यह दूसरी बार है जब प्रदेश के कांग्रेस विधायक इतनी बड़ी संख्या में जुट रहे हैं। इससे पहले यहां से करीब 50 विधायक 27 जुलाई को भूपेश बघेल के समर्थन में दिल्ली गए थे।

बताया जा रहा है कि आसपास के कई विधायक पहले से मरवाही पहुंच गए हैं। इधर बिलासपुर-रायगढ़ और सरगुजा क्षेत्र के विधायकों की गाड़ियां एक-एक कर बिलासपुर पहुंची। उसके बाद सभी लगभग एक साथ मरवाही के लिए रवाना हुए। धूल उड़ाती गाड़ियों का काफिला सड़क से गुजर रहे लोगों को कौतुहल में डाल रहा था। बताया जा रहा है, कि विधायकों का काफिला पेण्ड्रा से पहले पटियाला हाउस ढाबे में रुका है। व लोग मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के अमरकंटक से निकलने की सूचना का इंतजार कर रहे हैं।

वहां से मुख्यमंत्री के रवाना होते ही सभी लोग मरवाही पहुंचेंगे। वहां से उनके साथ मरवाही विधायक डॉ. केके ध्रुव के घर बरैहा जाएंगे। बताया जा रहा है, दिल्ली में शक्ति प्रदर्शन के बाद यह कांग्रेस विधायकों की सबसे बड़ी जुटान होने जा रही है। प्रदेश कांग्रेस के कई पदाधिकारी पहले ही डॉ. ध्रुव के घर जाकर शोक संवेदना व्यक्त कर चुके हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम भी पिछले सप्ताह वहां पहुंचे थे।

मरवाही विधायक डॉ. केके ध्रुव के बेटे प्रवीण कुमार ध्रुव का 23-24 अगस्त की रात को हुई एक सड़क दुर्घटना में निधन हो गया था। वे बिजली कंपनी के बांगो उपकेंद्र में इलेक्ट्रिकल इंजीनियर थे। आज उनका दशगात्र है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दोपहर बाद मरवाही पहुंचकर कार से डॉ. ध्रुव के घर बरैहा जाएंगे। वहां से डेढ़ बजे के करीब उनकी वापसी का कार्यक्रम है।