साली के प्रेम में पत्नी की गला घोट कर हत्या करने वाला हत्यारा पति गिरफ्तार

Chhattisgarh Crimes

महासमुन्द। साली के प्यार में पागल एक युवक ने अपनी पत्नी की गला दबाकर हत्या कर दी। और उसके बाद उसने पत्नी की साधारण मौत बता उसका अंतिम संस्कार कर दिया। महिला की मौत पर मौसा को संदेह होने पर उसने सरायपाली पुलिस से इस बात की शिकायत कर दी। इस पर अपनी तहकीकात किए जाने के 17 दिनों बाद सरायपाली पुलिस ने इस हत्या की गुत्थी सुलझाते हुए हत्यारे पति की विरुद्ध अपराध दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

सरायपाली थाना प्रभारी वीणा यादव से मिली जानकारी के अनुसार 19 दिसम्बर 2020 को सुरेन्द्री पाईक पति बिशीकेशन पाईक उम्र 30 वर्ष निवासी विरेन्द्र नगर सरायपाली की मृत्यु हो जाने से उसकी मृत्यु में संदेह होने पर नेहरू चौहान (मृतिका का मौसा) ने अनुविभागीय दण्डाधिकारी सरायपाली को लिखित शिकायत की थी।

मृतिका के मौसा की शिकायत थाना सरायपाली क्षेत्रांतर्गत होने से थाना सरायपाली को शिकायत जांच एवं अग्रिम कार्यवाही करने एसडीएम सरायपाली द्वारा लिखित निर्देश प्राप्त होने पर जांच के दौरान मृतिका की मृत्यु के संबंध में संदेहात्मक तथ्य मिले। जिस पर एसडीएम सरायपाली को ग्राम कोटेनदरहा में शमशान घाट में जमीन खोदकर शव बाहर निकाला गया।

अग्रिम पंचनामा कार्यवाही करने कार्यपालिक मजिस्ट्रेट नियुक्त करने के संबंध में प्रतिवेदन दिया गया था, जिस पर अनुविभागीय दण्डाधिकारी सरायपाली द्वारा नायब तहसीलदार ललीता भगत को कार्यपालिक मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया। जिनके द्वारा ग्राम कोटेनदरहा में शमशान घाट में मृतिका के पति बिशीकेशन पाईक के द्वारा बताए गए कब्र का उत्खनन कराया गया जिसमें महिला सुरेन्द्री पाईक उम्र 30 वर्ष का शव मिला। शव पंचनामा के दौरान सुरेन्द्री पाईक के मुंह से जीभ बाहर, दोनो दांतों के बीच दबा बाहर निकला दिखा। मौके पर मर्ग इण्टीमेशन चाक किया गया । डॉक्टर की टीम द्वारा शव निरीक्षण बाद शव विघटित होने की स्थिति में मेकाहारा पोस्टमार्टम हेतु रेफर किया गया।

गले में थे चोट के निशान

मर्ग जांच के दौरान मृतिका के पति बिशीकेशन पाईक पिता जयलाल पाईक उम्र 29 वर्ष साकिन कोटेनदरहा हाल वार्ड नं. 2 विरेन्द्र नगर सरायपाली के द्वारा मृतिका की छोटी बहन के साथ प्रेम संबंध होने की बात सामने आई, जिसके कारण आए दिन मृतिका और उसके पति के बीच वाद-विवाद होने की जानकारी मिली।

साथ घटना दिनांक 19 दिसंबर 2020 को दोपहर करीब 3 बजे मृतिका सुरेन्द्री पाईक अपने मौसी खिरो चौहान के घर से भली चंगी घुमकर आई थी कि कुछ देर बाद मृतिका का पति बिशीकेशन खिरो मौसी के घर जाकर सुरेन्द्री पाईक की तबियत अत्यधिक खराब होने के संबंध में बताने पर खिरो मौसी और अन्य परिजन सुरेन्द्री पाईक को देखने पहुंचे जो चित हालत में थी जिसे उऌउ सरायपाली ले जाकर किसी स्टाफ के द्वारा बताये जाने पर कि महिला के गले में चोट का निशान है आप लोगो के बीच लडाई झगडा हुआ है क्या पूछने पर बिशीकेशन के द्वारा हमारे बीच लडाई झगडा नहीं हुआ है।

यह मंगलसूत्र निकालने का निशान है मेरी पत्नी पेट दर्द से परेशान थी जिसके कारण उसकी ऐसी हालत हुई है, बोलने पर महिला हास्पिटल स्टाफ द्वारा सुरेन्द्री पाईक के कुछ समय पूर्व मृत्यु हो जाने की बात कही गई।

पोस्टमार्टम कराए बिना शव दफना दिया

हास्पिटल में नाम पता लिखवाने और पुलिस थाना में उसकी सूचना देने और शव का पोस्टमार्टम करवाने की बात कहने पर बिशीकेशन पाईक द्वारा बिना नाम पता लिखवाये तथा बिना पोस्टमार्टम करवाए ही सुरेन्द्री पाईक को वापस ले जाकर अपने परिजनो को भी पेट दर्द के कारण ही सुरेन्द्री पाईक के मृत्यु होने की बात कहकर जलाने की बात कही गई। जिस पर परिजनो द्वारा मृतिका के ससुराल कोटेनदरहा में मृतिका के शव को विधि विधान से दफनाने की बात कही गई।

जिसके बाद 20.12.2020 को शमशान घाट कोटेनदरहा में सुरेन्द्री पाईक के शव को दफनाया गया था। मर्ग जांच के दौरान गवाहो के कथन में भी मृतिका के गले में दोनो हाथों के नाखून से खरोच के निशान होना तथा मृतिका के अंतिम संस्कार के पूर्व श्रृंगार के समय मृतिका के नाक तथा कान से खुन निकला होना तथा मुंह से खून बहकर कान में भर जाने के संबंध में जानकारी दी गई। सम्पूर्ण मर्ग जांच पर प्राप्त तथ्यों के आधार पर प्रथम दृष्टया अपराध धारा- 302,201,203 भादवि का पाये जाने से थाना सरायपाली में अपराध क्रमांक 06/2021 धारा 302,201,203 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया।

पुलिस की जांच में आरोपी बिशीकेशन पाईक पिता जयलाल पाईक उम्र 29 वर्ष साकिन कोटेनदरहा, हाल वार्ड नं.2 विरेन्द्र सरायपाली को पुलिस अभिरक्षा में लेकर पूछताछ किया गया जो पत्नी सुरेन्द्री पाईक की बहन से प्रेम संबंध के कारण घटना दिनांक के समय लडाई झगडा होने तथा समय देखकर अपनी पत्नी को गला दबाकर हत्या करने की बात स्वीकार किया।

उक्त कार्रवाई पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर के निर्देशन में तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भुरकर साहू और अनुविभागीय अधिकारी पुलिस सरायपाली विकास पाटले के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी निरीक्षक वीणा यादव व स्टाफ उप निरीक्षक अनिल पालेश्वर, सउनि मुरलीधर भोई, नीलाबंर नेताम, राजेन्द्र प्रसाद भोई, बसंत पाणिग्रही, प्रधान आरक्षक रामकृष्ण साहू, वरूण दीपक, अशोक बाघ, सुकलाल भोई, जयंत बारीक, आरक्षक अनिल मांझी, चन्द्रमणी यादव, दिलीप पटेल, तुंगजध्वज देवान, टीकराम नायक, शिवशंकर राज, राजेश बारीक, भूपेश प्रधान, विपिन सिदार, अंतयार्मी रौतिया, राहुल वर्मा, राकेश शाडिल्य, महिला आरक्षक सौदामिनी बगर्ती, सैनिक लक्ष्मण मिश्रा एवं अन्य थाना सरायपाली स्टाफ का विशेष योगदान रहा।