बीजापुर में फिर नक्सलियों ने एक जवान का किया अपहरण

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। बस्तर के बीजापुर में नक्सलियों द्वारा फिर एक जवान का अपहरण किये जाने की खबर सामने आयी है। बीजापुर के पुलिस अधीक्षक कमल लोचन कश्यप ने बताया कि नक्सलियों द्वारा जवान के अपहरण किये जाने की जानकारी मिली है। इसकी जांच कराई जा रही है। मिली जानकारी के मुताबिक नक्सलियों द्वारा अपहरण किया गया जवान मुरली ताती गंगालूर क्षेत्र के पालनार का रहने वाला है। जवान मुरली ताती डीआरजी बस्तर में पदस्थ है। इससे पहले 3 अप्रैल को बस्तर के ही बीजापुर और सुकमा के सरहदी इलाके में जोनागुड़ा की पहाड़ी पर हुए नक्सल मुठभेड़ में सीआरपीएफ कोबरा कमांडा के जवान राकेश मनहास का अपहरण नक्सलियों ने किया था। जिसे मध्यस्थों की पहल पर आठ दिन के बाद नक्सलियों ने रिहा कर दिया था। एक बार फिर डीआरजी के जवान मुरली ताती का नक्सलियों द्वारा अपहरण किये जाने की घटना से पुलिस बल की परेशानी बढ़ गयी है।

Chhattisgarh Crimes

नक्सलियों ने लगाया ड्रोन हमले का आरोप, आईजी ने नकारा

20 अप्रैल 2021 को दण्डकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी के प्रवक्ता विकल्प द्वारा जारी किए गए प्रेस विज्ञप्ति में सुरक्षा बल द्वारा माओवादियों के ऊपर ड्रोन के माध्यम से हवाई हमला करने का आरोप लगाया गया है। इस पर अपना पक्ष रखते हुए बस्तर के आईजी सुंदरराज पी. ने बताया कि यह आरोप बिल्कुल बेबुनियाद है। विगत दिनों में अपना आधार क्षेत्र पैर के नीचे से खिसकने से सीपीआई माओवादी संगठन बौखलाहट में निर्दोष आदिवासी ग्रामीणों की हत्या करना, तोड़फोड़, आगजनी जैसे जनविरोधी एवं विकास विरोधी हरकत को अंजाम दे रहे हैं। वास्तविकता यह है कि अब तक हजारों निर्दोष ग्रामीणों की हत्या, विकास कार्यों हेतु इस्तेमाल वाहन और मशीनों को जलाना जैसी कायराना हरकतों से अपनी झूठी ताकत का प्रदर्शन करने का असफल प्रयास करने वाला ये गैरकानूनी एवं अमानवीय माओवादी संगठन का खात्मा बहुत जल्दी होगा तथा बस्तर की जनता को माओवादियों के आतंक से बहुत जल्दी मुक्ति मिलेगी।