21 फरवरी को शुक्र करेंगे राशिपरिवर्तन, कुंभ सहित इन 5 राशियों को अचानक होगा धनलाभ

Chhattisgarh Crimes

21 फरवरी तड़के 2 बजकर 22 मिनट पर शुक्र देव कुंभ राशि में प्रवेश करेंगे और 16 मार्च की देर रात 3 बजकर 1 मिनट तक यहीं पर रहेंगे। शुक्र देव कुल 25 दिन कुंभ राशि में गोचर करेंगे और उसके बाद मीन राशि में प्रवेश कर जाएंगे।

शुक्र के इस गोचर का किस राशि के जातकों पर क्या प्रभाव पड़ेगा और उससे बचने के लिए आपको क्या उपाय करना चाहिए। शुक्राचार्य के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए और अशुभ फलों से बचने के लिये आपको अपने राशि अनुसार क्या उपाय करना चाहिए है। जानिए आचार्य इंदु प्रकाश राशिनुसार कैसा रहेगा आपका दिन।

Chhattisgarh Crimes

मेष राशि

शुक्र आपके जन्मपत्रिका के ग्यारहवें घर में गोचर कर रहें हैं और ग्यारहवां घर आपके आय, काम मनोकामनाओं की पूर्ति, बड़े भाई, बहन तथा पुत्रवधु से सम्बन्ध रखता है। इसलिए शुक्र के इस का यह गोचर के दौरान अपने भाई तथा बहन से वाद-विवाद करने से बचें। अगर कोई भी नया कार्य शुरू करने जा रहे है तो सावधानी बरतने की जरुरत है। शुक्र के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए 16 मार्च तक मंदिर में तेल, रूई या दही का दान करें।

वृष राशि
शुक्र आपके जन्मपत्रिका के दसवें घर में गोचर कर रहें हैं और दसवां घर आपके पिता, व्यापार, पद और प्रतिष्ठा से सम्बन्ध रखता है। इस दौरान आपके पिता का स्वास्थ उत्तम रहेगा। आप 16 मार्च तक वाहन चलाते समय सावधानी बरतें तथा अपनी आंखो का भी ख्याल रखें। शुक्र के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए इस दौरान आप शनि का उपाय करें या घर या बाउंड्री की पश्चिमी दीवार कच्ची रखें।

मिथुन राशि
शुक्र आपके जन्मपत्रिका के नौवें घर में गोचर कर रहें हैं और नौवां घर आपके भाग्य, गुरु और शिक्षा से सम्बन्ध रखता है। शुक्र के इस गोचर के दौरान आपको भरपूर संतान सुख मिलेगा। आपकी आर्थिक स्थिति भी अच्छी होगी। किसी प्रतियोगी परीक्षा का परिणाम आपके फेवर में आएगा। शुक्र के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए घर के नीव में चांदी व शहद दबाएं या नीम के पेड़ के नीचे चांदी का चौकोर टुकड़ा दबाएं।

कर्क राशि
शुक्र आपके जन्मपत्रिका के आठवें घर में गोचर कर रहें हैं और आठवां घर आपके आयु, धन लाभ तथा विदेश यात्रा से सम्बन्ध रखता है। लिहाजा शुक्र के इस गोचर के दौरान अचानक धन लाभ होने की भी सम्भावना है। आपके जीवनसाथी का स्वाभाव थोड़ा चिड-चिड़ा रहेगा। इस दौरान आप किसी से दान में दी गयी वास्तु ना लें। शुक्र के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए 16 मार्च तक रोज मंदिर जाकर माथा टेके और भगवान के दर्शन करें।

सिंह राशि
शुक्र आपके जन्मपत्रिका के सातवें घर में गोचर कर रहें हैं और सातवां घर आपके जीवनसाथी, विवाह, व्यवसाय और साझेदारी से सम्बन्ध रखता है। शुक्र के इस गोचर के दौरान आपको संसारिक सुखों की प्राप्ति होगी। परिवार व माता-पिता के सुखों में भी बढ़ोतरी होगी। शुक्र के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए आज से लेकर 43 दिनों तक गंदे नाले नीला फूल डालें या अपने माता-पिता या बुजुर्गों का आर्शीवाद लें ।

कन्या राशि
शुक्र आपके जन्मपत्रिका के छठे घर में गोचर कर रहें हैं और छठवां घर आपके शत्रु, मुकदमेंबाजी, चिंता से सम्बन्ध रखता है। इसलिए शुक्र के इस गोचर के दौरान यानि 16 मार्च तक आप अपनी सेहत का बेहद ख्याल रखे। इस दौरान आप शत्रुओं पर हावी रहेंगे। रिश्तेदारों और भाईयों से सहायता मिलेगी। शुक्र के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए इस दौरान चांदी की ठोस गोली अपने पास रखें या इस दौरान घर की स्त्री सोते समय बालों में क्लिप लगाकर सोए।

तुला राशि
शुक्र आपके जन्मपत्रिका के पांचवें घर में गोचर कर रहें हैं और पांचवा घर आपके संतान, बुद्धि, प्रसिद्धि तथा ननिहाल पक्ष से सम्बन्ध रखता है। ननिहाल पक्ष से कोई शुभ समाचार मिल सकता है। विद्यार्थियों का पढ़ाई में मन लगेगा। उत्तम जीवनसाथी की प्राप्ति होगी। शुक्र के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए गाय और माता की सेवा करें या इस दौरान अपना व्यवहार ठीक रखें यानि किसी के प्रति मन में गलत भावना ना रखें।

वृश्चिक राशि
शुक्र आपके जन्मपत्रिका के चौथे घर में गोचर कर रहें हैं और चौथा घर का सम्बन्ध आपके माता, भूमि व भवन, वाहन तथा संचय किया हुआ धन से है। इस दौरान आप एक राजा के समान जीवनयापन करेंगे। कोई वाहन खरीदने का भी योग बन रहा है। संतान सुख भरपूर मिलेगा। किसी भी स्थिति में आप धैर्य बनाये रखे। शुक्र के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए घर में कुंआ ना खुदवाएं या झाडू की गुठली में काला सुरमा भरकर जमीन में दबाएं।

धनु राशि
शुक्र आपके जन्मपत्रिका के तीसरे घर में गोचर कर रहें हैं और तीसरा घर का सम्बन्ध आपके आयु, छोटे भाई-बहन से, पराक्रम तथा गले से होता है। इस दौरान समाज में आपकी मान प्रतिष्ठा बढ़ेगी। माता-पिता तथा छोटे भाई- बहनों का सहयोग मिलता रहेगा। किसी की मदद करते है, तो उसका कई गुना आपको वापस मिलेगा। अतः शुक्र के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए स्त्रियों का सम्मान करें।

मकर राशि
शुक्र आपके जन्मपत्रिका के दुसरे घर में गोचर कर रहें हैं और दूसरा घर आपके वाणी, धन-संपत्ति, परिवार तथा पड़ोसियों से सम्बन्ध रखता है। इस दौरान आप वाक्पटुता में निपुड होंगे, लेकिन किसी से भी वाद-विवाद ना करें। आय के नये सोर्स बनेगें, जिससे संचय किये हुये धन में बढ़ोतरी होगी। इस दौरान अध्यात्म की ओर रूचि बढ़ेगी। शुक्र के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए गाय का घी मंदिर में दान करें या किसी से बुरा बर्ताव ना करें।

कुंभ राशि
शुक्र आपके जन्मपत्रिका के पहले घर में गोचर कर रहें हैं और पहला घर आपके शारीर, रूप, ज्ञान, बल तथा स्वभाव से सम्बन्ध रखता है। इस दौरान आप अपने सेहत का ध्यान रखे। इस दौरान आप लोगों की सहायता करने के लिये हमेशा तैयार रहेंगे। अचानक धन लाभ होने के योग है। स्त्री सुख मिलेगा तथा संतान की प्राप्ति भी हो सकती है। इस दौरान स्वास्थ उत्तम रहेगा। शुक्र के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए 16 मार्च तक काली गाय की सेवा करें या दही शरीर पर मल कर स्नान करें।

मीन राशि
शुक्र आपके जन्मपत्रिका के बारहवें घर में गोचर कर रहें हैं और बारहवां घर आपके खर्चों, शयन सुख, विदेश तथा बायीं आँख से सम्बन्ध रखता है। इस दौरान आपके खर्चें बढ़ सकते है, इसलिए बेफिजूल के खर्चों पर पैसा ना खर्च करें। इस दौरान आपको समस्त सुखों की प्राप्ति होगी। किसी मजबूर की सहायता करें धन में वृद्धि होगी। अतः शुक्र के इस गोचर का शुभ फल सुनिश्चित करने के लिए घर के किसी स्त्री के द्वारा या उसके नाम पर गाय दान करें या घर की कोई भी स्त्री विराने में नीला फूल या धूल दबाएं।