जिले के पुलिस सखी एवं महिला कमांडो को मिलेगी पुलिस की हर संभव मदद : एसपी पारुल माथुर

Chhattisgarh Crimes

गरियाबंद। गरियाबंद जिले के ग्रामीण क्षेत्र में असमाजिक गतिविधियों को रोकने के लिए पुलिस खास योजना बनाई है. अब महिला सखी और महिला कमांडो टीम (पुलिस सखी) पहले से ज्यादा सशक्त और एक्टिव होंगी. मैनपुर पुलिस की तरफ से आयोजित पुलिस सखी कार्यक्रम में एसपी पारुल माथुर ने इस बात की जानकारी दी.

Chhattisgarh Crimes

एसपी पारुल माथुर ने कहा कि जिले में थाना और जिला स्तर पर महिला सखी, महिला कमांडो (पुलिस सखी) की टीम गठित है. टीम से जुड़ी महिलाओं की समस्या सुनने के बाद अब उन्होंने गांव में गश्त के दौरान पुलिस बल मुहैया कराने का फैसला लिया. ताकि महिलाएं अपने काम को निर्भीक और निडर होकर संपादित कर सके. उन्होंने कहा कि टीम की महिलाएं जिले में अच्छा काम कर रही है. गश्त के दौरान पुलिस बल मिलने से वे और बेहतर काम कर सकेंगी.

मैनपुर सामुदायिक भवन में आयोजित कार्यक्रम में जिले के मैनपुर, छुईया, बोईरगांव, दरीपारा, कोसमी, अंदोरा, आमदी, मोहलाई बरदुला, जांमगांव (फिंगेश्वर), कौन्दकेरा, पुरैना, बिरौनी और गोपालपुर की सैकंड़ों की संख्या में महिला पुलिस सखी उपस्थित हुई. इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन राठौर, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस मैनपुर रूपेश कुमार डाण्डे और रक्षित निरीक्षक उमेश राय भी कार्यक्रम में उपस्थित रहे.

पुलिस अधीक्षक ने अपराध नियंत्रण, महिला जागरूकता शसक्तीकरण, महिलाओं पर घटित अपराध की रोकथाम, नशा मुक्ती, शिक्षा, स्वास्थ्य जैसे विषयों पर टीम की महिलाओं से चर्चा की. अधिकारी ने उनकी समस्याएं सुनी और उनका समाधान भी बताया. पारुल माथुर ने अपने संबोधन में कहा कि पुलिस हमेशा जनता की सेवा और सुरक्षा के लिए है. इस दौरान उन्होंने पुलिस सखीयों का उत्साहवर्धन करते हुए पुलिस सखी प्रमुख को स्मृति चिन्ह से सम्मानित करते हुए सभी सदस्यों को साड़ी भेट कर सम्मानित किया गया.