अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाते हुए पुलिस ने प्रेमी व दोस्त को पहुंचाया सलाखों के पीछे

  • मृतिका के पास मिले तस्वीर से सुलझी अंधे कत्ल की गुत्थी, तस्वीर वाला युवक ही निकला प्रेमिका का कातिल
  • मृतिका की पहचान संतोषी महंत निवासी नन्दौर खुर्द के रूप में हुई

Chhattisgarh Crimes

सक्ती। कोतरी नाला में मिले महिला के अज्ञात शव का मामला पुलिस ने सुलझा लिया है, वहीं कातिल भी पुलिस के हत्थे चढ़ गए हैं। पूरा मामला प्रेम प्रसंग का बताया जा रहा है। वहीं मृतक महिला का नाम संतोषी महंत ग्राम नन्दौर खुर्द बताया जा रहा है।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार 15 जून को सुबह 6 बजे ग्राम डोंडकी के भाटापारा कोतरी नाला में क्षतविक्षत महिला की लाश की सूचना मिली जिसके बाद सक्ती पुलिस स्थल पहुंच अज्ञात शव को अपने कब्जे में लेकर मार्ग कायम करते हुए पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दी।पोस्टमार्टम से पता चला कि उक्त महिला की गला घोंटकर हत्या की गई है। जिसके बाद पुलिस हरकत में आई वहीं महिला के कपड़ों से एक युवक की फोटो भी मिली। यही एकमात्र फोटो पुलिस के लिए सुराग का काम की पुलिस ने इस फोटो की कापियां अपने मुखबिरों को देकर उन्हें कार्य पर लगाया। पता चला कि उक्त फोटो असोन्दा निवासी ओमप्रकाश साहू का है जिसके बाद पुलिस ने ओमप्रकाश साहू को पूछताछ के लिए थाने लाई। उक्त आरोपी द्वारा गोलमोल जवाब देने पर पुलिस का शक गहराता गया जब पुलिस ने सख्ती दिखाई तब आरोपी ने बताया कि उक्त महिला संतोषी महंत है जिसके साथ वह नन्दौर कला में पढ़ाई किया था वहीं से दोनों का आपसी प्रेम संबंध था ।

वहीं 10 जून को सुबह संतोषी महंत ने आरोपी युवक को फोन कर कहा कि मैं तुम्हारे साथ ही रहना चाहती हूं जिस पर युवक ने मना किया कि कुछ दिन रुक जाओ फिर हम दोनों साथ रहेंगे। दूसरे दिन संतोषी महंत मोटरसाइकिल से लिफ्ट लेकर आरोपी के घर के पास पीपल पेड़ के पास पहुंची। युवक को पता चलते ही वह अपने साथी परमेश्वर सिदार के साथ संतोषी के पास पहुंचा। आरोपी युवक और साथी द्वारा संतोषी महंत को वापस घर जाने के लिए समझाने लगे लेकिन युवती नहीं मानी और लगातार जिद करती रही कि मुझे तुम्हारे साथ ही रहना है और तुमसे ही शादी करनी है। आरोपी युवकों द्वारा बड़ी चालाकी से मृतिका को कोतरी नाला तक लाया गया। जब युवती नहीं मानी तब ओमप्रकाश साहू द्वारा जमीन में गिराकर अपनी कोहनी से गला दबाने लगा और परमेश्वर सिदार युवती का हाथ पैर को दबाकर पकड़ लिया ।

आरोपी द्वारा गला दबाए जाने के बाद मौके पर ही युवती की मौत हो गई जिसके बाद युवती के शव को दोनों दोस्त नाले में फेंक दिए। अंधे कत्ल की गुत्थी को सुलझाते हुए सक्ती पुलिस ने एक सप्ताह के अंदर ही दो आरोपियों ओमप्रकाश साहू पिता गुरवारु साहू 26 वर्ष एवं परमेश्वर सिदार 28 वर्ष असोन्दा निवासी को गिरफ्तार करते हुए भादवि की धारा 161/302, 201,34 के तहत अपराध कायम कर विवेचना में लिया। उक्त कार्रवाई में पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर तथा ए एस पी संजय महादेवा एवं एस डी ओ पी शोभराज अग्रवाल, थाना प्रभारी रूपक शर्मा के मार्गदर्शन पर उपनिरीक्षक नवीन पटेल ,ए एस आई अभय सत्यार्थी , प्र आर अजय प्रताप कुर्रे आरक्षक प्रेमनारायण राठौर, महेंद्र राठौर , दिव्या गोंड़, अश्विनी सिदार, जोगेश राठौर, सेवन देवांगन, खगेश साहू,पुसनाथ भगत,लक्ष्मीनारायण राठौर, राजेश साहू एवं थाना स्टाफ का सराहनीय योगदान रहा।