सुमित सिनफेब व शुभम मार्ट सरायपाली में हुई 20 लाख रुपए की चोरी का पर्दाफाश, सुरक्षागार्ड ही निकला घटना का मास्टर माईन्ड

घटना के 24 घण्टे के भीतर ही आरोपी व चोरी की गई नगद 20,06,550/- रुपए शत प्रतिशत बरामद

Chhattisgarh Crimes

महासमुंद। 15 फरवरी को प्रार्थी बिहारी लाल अग्रवाल पिता स्व. हरिश चंद्र अग्रवाल सा. थाना के सामने सरायपाली, महासमुन्द के द्वारा थाना सरायपाली में आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि दिनांक 14.02.2021 को रात्रि में 10:00 बजे तल घर में स्थित संचालन शुभम के मार्ट प्राई.लिमी. (किराना दुकान) एवं उपर कपडा दुकान (सुमीत सिनफेब इं.प्राई.लि.) में से किराना दुकान का रकम नगदी 6,79,200/- रुपए एवं कपडा दुकान का नगदी रकम 13,27,350/- रुपए कुल 20,06,550/- रूपया नगदी रकम को उपर कपडा दुकान में बने कैश कॉउन्टर ड्राज में रखकर लाककर तथा दुकान शटर लगाकर तालाबंद कर अपने घर चला गया था आज दिनांक 15.02.2021 को प्रात: 07:00 बजे नवीन राणा (सुरक्षागार्ड) द्वारा फोन कर सूचना दिया गया कि दुकान का ताला टूटा हुआ है तब मै एवं मेरा लडका द्वारा दुकान जाकर देखे तो नीचे बैसमैन्ट स्थित शटर खुला हुआ था एवं शटर एक कंबल पडा था तब मुझे दुकान में चोरी होने का संदेह होने पर उपर जाकर कैश कॉउन्टर चेक किया तो कैश कॉउन्टर का ड्राज का लॉक टुटा हुआ था कैश कॉउन्टर चेक करने पर तल घर में स्थित शुभम के मार्ट प्राईवेट लिमि. (किराना दुकान) का नगदी रकम 6,79,200/- रुपए एवं उपर कपडा दुकान (सुमित सिनफेब ई.प्राई.लि.) का नगदी रकम 13,27,350/- रुपए कुल नगदी रकम 20,06,550/- रुपए नही था जिसे कोई अज्ञात चोर दुकान के शटर का ताला तोड कर अन्दर घुस कर रात्रि में चोरी कर ले गया।

पुलिस अधीक्षक महासमुन्द प्रफुल्ल कुमार ठाकुर ने घटना की गंभीरता को देखते हुये सायबर सेल महासमुन्द एवं थाना सरायपाली टीम को आरोपी की पता तलाश करने हेतु निर्देशित किया। पुलिस अधीक्षक महासमुन्द महोदयय द्वारा चार टीम का गठन किया गया। जिसमें टीम 01 का निरीक्षक सुश्री वीणा यादव थाना प्रभारी सरायपाली, टीम 02 का उनि0 संजय राजपूत प्रभारी सायबर सेल , टीम का 03 उनि. अनिल पालेश्वर, टीम 04 का सउनि0 नवधाराम खाण्डेकर द्वारा अलग-अलग कार्यों का नेतृत्व किया। सभी टीम को अलग-अलग दिशाओं में सीसीटीवी फुटेज एवं तकनीकि सहायता के मदद से अज्ञात आरोपी के बारे में जानकारी एकत्र करना शुरू किया एवं क्वह स्क्वाड के माध्यम से चोरी में प्रयुक्त कम्बल को सुघांकर छानबीन करना प्रारंभ किया तथा किराना दुकान व सुमित सिनफेब कपडा दुकान के कर्मचारियों से पूछताछ करने का प्रारंभ किया गया।

टीम प्रभारियों को छोटी सी छोटी जानकारी एकत्रित कर अज्ञात आरोपियों तक पहुचने हेतु हरसंभव प्रसाय करने निर्देशित किया गया। सायबर सेल की टीम द्वारा मुखबीरों को सक्रिय कर एवं तकनीकी सहायता के मदद् से आरोपी के बारे में पतासाजी की जा रही थी। इसी दौरान घटना के परिस्थितीजन्य साक्ष्य व घटना स्थल का सूक्ष्मता से अघ्ययन करने से यह पता चला कि चोरी करने वाला व्यक्ति यही आस पास का है। जिसे दूकान में रखे नगद से ले कर के दुकान के अंदर व बाहर जाने का एक गुप्त रास्ता भी पता हैं तभी टीम द्वारा दुकान के आस पास 100 मी. के ऐरिया में लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया और दुकान में सीसीटीवी फुटेज की भी बारिकी से जॉच कि तभी सभी प्राप्त फुटेजों को देख करके पुलिस टीम को यह संदेह हुआ कि घटना कोई दुकान का ही कर्मचारी मिला हुआ है दुकान में कार्यरत् सुरक्षा में तैनात कर्मचारियों, कैशियर व अन्य स्टॉफ पूछताछ किया पूछताछ दौरान दुकान में काम करने वाला सी.एम.एस. कंपनी का सुरक्षागार्ड संजय कुमार यादव से पूछताछ किया पूछताछ दौरान वह बताया कि वह रात्रि 09:00 बजे अपनी ड्यूटी वही कार्यरत् नवीनराणा से बदल करके घर चला गया था। और बार-बार पूछताछ करने पर उसके बयानों विभिन्नता मिली तभी टीम द्वारा उसके हाव-भाव को देखकर सख्ती के साथ पूछताछ किया गया जिस पर से वह टूट गया और बताया कि उसे घर बनाने के लिए पैसे की जरूरत थी और वह जान रहा था कि 03-04 दिनों से बैंक बंद होने के कारण दुकान का बिक्री का रकम दुकान में ही पडा हुआ है।
यह सोच कर उसके मन में लालच आ गया और वह जानता था कि रात्रि 09:00 से सुबह 09:00 तक तैनात सुरक्षा गार्ड नवीनराणा वह मेन गेट के पास ही रहता है वह अन्दर की तरफ कभी नही आता है।

इसी मौका का फायदा उठाकर उसने उक्त चोरी की घटना को अंजाम दिया और षडयत्र पूर्वक दुकान के लगे लाता को मौका देख करके रोजाना कि तरह दुकान का ताला बंद कर चाबी अपने मालिक बिहारी लाल अग्रवाल देता था किन्तु एक दिन पूर्व में नया ताला-चाबी खरीद कर ताला को बदल दिया और एक चाभी अपने मालिक व एक चाभी अपने पास रखा था और दुकान के पीछे से दुकान के अन्दर घुसा और सीसीटीवी से बचने के लिये वही पास में पडा कंम्बल को ओढकर कैश कॉउन्टर में रखे नगदी रकम को ड्राज को तोडकर चुरा कर ले जाना बताया। फिर जा करके कैश कॉउन्टर के ड्राज के अन्दर रखे कैश रकम को पेचकश लगा करके व तोड करके चोरी करना स्वीकार किया। आरोपी संजय कुमार यादव के निशानदेही पर आरोपी के पास से बैग में रखे नगदी रकम 20,06,550/- रुपए जप्त कर थाना सरायपाली में उक्त आरोपी के विरूद्ध अपराध धारा के तहत् कार्यवाही की जा रही है।

यह सम्पूर्ण कार्यवाही पुलिस महानिरीक्षक रायपुर रेंज रायपुर आनंद छाबडा के निर्देशन पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर के मार्गदर्शन में अति0 पुलिस अधीक्षक श्रीमती मेघा टेम्भुरकर साहू एवं अनु0अधिकारी (पु) सरायपाली विकास पाटले के निर्देशन में थाना प्रभारी सरायपाली सुश्री वीणा यादव, सायबर सेल प्रभारी संजय सिंह राजपूत, उनि. अनिल पालेश्वर, सउनि0 नवधाराम खाण्डेकर, राजेन्द्र भोई, मुरलीधर, नीलाम्बर नेताम प्रआर0 प्रकाश नंद, मिनेश धु्रव, अशोक बाग आर. रवि यादव, चम्पलेश सिंह ठाकुर, हेमन्त नायक, संदीप भोई, यूगल पटेल, योगेन्द्र दुबे, दिलिप पटेल, खगेश ध्रुव, नितिन सिदार, टीकाराम नायक एवं डागॅ मास्टर आर. यशवंत डडसेना के द्वारा की गई है।

गिरफ्तार आरोपी

01 संजय यादव पिता जगत यादव उम्र 22 वर्ष सा. बाजार पारा सरायपाली, महासमुन्द
जप्त सम्पत्ति –
01 चोरी की नगदी रकम 20,06,550/- रुपएं।
02 घटना में प्रयुक्त पेचकस 01 नग