61 वर्षीय बुजुर्ग में वैक्सीन लगवाने के दूसरे दिन दिखा लकवा के लक्षण

Chhattisgarh Crimes

गरियाबंद। देवभोग के धुरवापारा निवासी 61 वर्षीय सोदनराम कोरोना वैक्सीन लगवाने के दूसरे दिन लकवा के शिकार हो गए है। उनके बांए हाथ और पैर में लकवा हो गया। फिलहाल ओडिसा में उनका इलाज जारी है। परिजनों ने वैक्सीन को इसका कारण बताया है।

जानकारी के अनुसार सोदनराम कश्यप ने 20 मार्च दोपहर को पत्नी के साथ देवभोग अस्पताल में वैक्सीन लगवाई थी। बुजुर्ग के मुताबिक उसी रात उसे तेज बुखार हुआ। सुबह तक बुखार तो उतर गया लेकिन मॉर्निंग वॉक से लौटते वक्त लकवा हो गया। उसके बांए हाथ और पैर ने काम करना बंद कर दिया।

सोदनराम को 108 की मदद से तत्काल देवभोग अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल के डॉक्टरों ने प्रारंभिक जांच और उपचार के बाद उसे जिला अस्पताल रिफर कर दिया। परिजन सोदनराम को जिला अस्पताल की बजाय ओडिसा के धर्मगढ़ ले गए। फिलहाल उनका हाथ ठीक हो गया है और काम करना शुरू कर दिया है मगर पैर में अभी अकड़न बनी हुई है। परिजनों के मुताबिक सोदनराम को अबतक किसी प्रकार की बीमारी नही थी।

वही जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी एनआर नवरत्न ने वैक्सीन की वजह से स्थिति निर्मित होने से साफ इंकार कर दिया। उन्होंने बताया कि जरूरी जांच के बाद ही वैक्सीन लगाई गई है। अबतक ऐसे लक्षण सामने नही आये थे। यह इस तरह का पहला मामला सामने आया है। उन्होंने कहा बीपी बढ़ने के कारण यह स्थिति निर्मित हुई है। उन्होंने इसे संयोग ही बताया कि वैक्सीन लगने के अगले दिन उनका बीपी बढ़ गया। उन्होंने सोदनराम के पहले से बीपी मरीज होने की शंका जाहिर की है।