कोरोना काल में काम करने वाले अस्थायी कोविड कर्मचारियों ने खोला मोर्चा

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। कोरोना काल में काम करने वाले अस्थायी कोविड कर्मचारियों ने मोर्चा खोल दिया है. क्रांतिकारी कोरोना योद्धा संघ के बैनर तले बूढ़ातालाब स्थित धरना स्थल पर पांच दिवसीय हड़ताल पर बैठे हैं. हड़ताल करने वाले कर्मचारियों में डॉक्टर, माइक्रोबायोलॉजिस्ट, नर्सिंग स्टाफ, लैब तकनीशियन, स्वास्थ्य संयोजक, वार्ड बॉय, कंप्यूटर ऑपरेटर और सफाई कर्मी शामिल हैं.

संघ के अध्यक्ष हूमेश जायसवाल ने बताया कि कोरोना काल में जान दांव पर लगाकर अस्पताल में सेवाएं दी. अब सेवा समाप्त कर दी गई है. इसी के विरोध में 24 से 28 अगस्त तक हड़ताल का ऐलान किया है. पांच दिवसीय आंदोलन में प्रदेश के समस्त अस्थाई कोविड कर्मचारी जिसमें डॉक्टर माइक्रोबायोलॉजिस्ट नर्सिंग स्टाफ लैब तकनीशियन स्वास्थ्य संयोजक वार्ड बॉय कंप्यूटर ऑपरेटर सफाई कर्मी शामिल हो रहे हैं.

अस्थायी कोविड कर्मचारी स्वास्थ्य कर्मियों की मांग है कि कोरोना काल के दौरान अस्थाई रूप से भर्ती स्वास्थ्य कर्मियों को कार्य पर निरंतर रखा जाए एवं जिनकी सेवा समाप्त कर दी गई है उन्हें पुनः कार्य पर निरंतर रखा जाए. इन मांगों को लेकर अब आंदोलन कर रहे हैं.