सरकारी शराब दुकान के युवा सुपरवाइजर ने फांसी पर झूलने से पहले दोस्तो को भेजी फांसी की सेल्फी

Chhattisgarh Crimes

अंतागढ़। अंतागढ़ में सरकारी शराब दुकान के सुपरवाइजर ने रविवार सुबह फांसी लगा कर खुदखुशी कर ली। फांसी लगाने से पहले अपने साथियों को वाट्सएप पर गले में फंदा डालकर सेल्फी भेजी। हड़बड़ाए साथी जब तक पहुंचे, तब तक फांसी पर लटक कर सुपरवाइजर डिगेंद्र पटेल की जान जा चुकी थी।

बताया जा रहा है कि कुछ दिनों पूर्व शराब दुकान का एक कर्मचारी शराब बिक्री की रकम लेकर फरार हो गया था, जिसके बाद से डिगेंद्र परेशान चल रहा था और शराब बिक्री की रकम भी उसे अपनी जेब से जमा करनी पड़ी थी। डिगेंद्र अंतागढ़ में ही किराए का मकान ले कर रहता था।

वह मूलतः गरियाबंद के छुरा का निवासी था। रविवार की सुबह डिगेंद्र ने पहले गले को फंदे में डाल कर सेल्फी ली और उसे अपने परिजनों, सहकर्मियों व मित्रों को भेज कर फांसी लगा ली। हड़बड़ाए सहकर्मी जब तक पहुंचे डिगेंद्र की जान जा चुकी थी। पुलिस केस दर्ज कर जांच में जुट गई है।