बच्चे की चाह में महिला ने की पड़ोसी के मासूम बच्चे की हत्या

Chhattisgarh Crimes

नई दिल्ली। दिल्ली के रोहिणी इलाके में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. जहाँ एक महिला ने तांत्रिक की सलाह पर अपने पड़ोसी के तीन-वर्षीय बच्चे की हत्या कर डाली, और उसके शव को प्लास्टिक के थैले में भरकर इमारत की छत पर फेंक दिया. इस घटने की जानकारी पुलिस ने रविवार को दी.

Chhattisgarh Crimes

इस केस में गिरफ्तार की गई 25-वर्षीय महिला ने पुलिस को बताया कि उसे बच्चा नहीं होने की वजह से ससुराल पक्ष और अन्य रिश्तेदारों की तरफ से बहुत ताने दिए जाते थे, जिनके चलते उस पर बहुत दबाव था. इसी वजह से वह एक तांत्रिक के पास पहुंची, जिसने परमात्मा को खुश करने के लिए एक बच्चे की बलि देने की बात कही. पुलिस ने बताया कि इसके बाद महिला ने अपने पड़ोसी के बच्चे को मार डाला और उसके शव को प्लास्टिक की थैली में भर दिया.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि नीलम गुप्ता ने बताया है की उसका विवाह 2013 में हुआ था, लेकिन डॉक्टरों की सलाह के बावजूद वह मां नहीं बन सकी. इसलिए चार साल पहले वह उत्तर प्रदेश के हरदोई में रहने वाले एक तांत्रिक के पास गई, जिसने कहा कि अगर वह मां बनना चाहती है, तो उसे एक बच्चे की बलि देनी होगी.

पुलिस अधिकारी के मुताबिक यह मामला शनिवार को प्रकाश में आया, जब लापता बच्चे के माता-पिता पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराने पहुंचे, और फिर पुलिस द्वारा उसकी तलाश शुरू की गई.

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि तलाशी अभियान के दौरान एक पुलिसकर्मी ने पड़ोस के घर की छत पर एक थैला देखा. जब उसे खोला गया, तो लापता बच्चे का शव मिला, जिसकी गर्दन पर चोट के निशान थे. प्रथम दृष्टया लगता है कि बच्चे की हत्या गला घोंटकर की गई.

पुलिस अधिकारी के अनुसार, बच्चे के पिता के बयान के आधार पर हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है. जांच के दौरान परिवार के सदस्यों, रिश्तेदारों और पड़ोसियों से पूछताछ की गई, जिससे पता चला कि बच्चे को आखिरी बार एक पड़ोसी के साथ देखा गया था. उन्होंने बताया कि पूछताछ की शुरूआत में नीलम ने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की, लेकिन बाद में कबूल कर लिया कि उसने बच्चे को तब मार डाला था, जब वह छत पर अकेला खेल रहा था.

पुलिस उपायुक्त (रोहिणी) प्रणव तायल ने कहा, पूछताछ के दौरान, महिला ने बताया कि बच्चा नहीं होने के चलते ससुराल वालों, अन्य रिश्तेदारों और समाज के तानों की वजह से वह काफी दबाव में थी, इसलिए चार साल पहले वह हरदोई में एक तांत्रिक के पास गई, जिसने बच्चा पाने के लिए एक बच्चे की बलि देने की सलाह दी.

प्रणव तायल के मुताबिक, खुद का बच्चा पाने की चाह में महिला ने परमात्मा को खुश करने लिए पड़ोसी के बच्चे को मार डालने का फैसला किया. योजना के अनुसार, शनिवार को जब उसने बच्चे को छत पर अकेला खेलता देखा, तो जाकर उसका कत्ल कर दिया.