नशेड़ी मां की सजा डेढ़ महीने की मासूम बेटी को जान देकर चुकानी पड़ी

Chhattisgarh Crimes

धमतरी। धमतरी में डेढ़ महीने की एक मासूम दूध के लिए इंतजार करते-करते दुनिया को अलविदा कह गई। उसकी मां रात में शराब पीकर सो गई और बच्ची रातभर दूध के लिए बिलखती रही। मासूम की चीखों से भी शराबी मां का नशा नहीं टूटा। सुबह होते-होते बच्ची की चीखें खामोश हो गईं। पुलिस ने शुरूआती जांच में भूख से बच्ची की मौत होने की आशंका जताई है।

छत्तीसगढ़ के धमतरी शहर से लगे सुंदरगंज में रहने वाली इस शराबी मां का नाम राजमीत कौर है। वह मजदूरी करती है। उसका पति हरमीत मोटर मैकेनिक है। वह एक दिन पहले ही ट्रक सुधारने के लिए जगदलपुर गया था। जानकारी के मुताबिक, राजमीत हर दिन शराब पीती है। शुक्रवार की शाम इसने कुछ ज्यादा ही नशा कर लिया था। रातभर बेसुध रहने के बाद जब सुबह उसकी नींद टूटी, तो बच्ची के शरीर में कोई हलचल नहीं थी। उसका रोना सुनकर सुबह 6 बजे पड़ोसी आए और हालात देखकर पुलिस को सूचना दी।

Chhattisgarh Crimes

28 साल की राजमीत ने जब देखा कि उसकी बच्ची की मौत हो गई, तो भी वह रुकी नहीं। लड़खड़ाते कदमों से घर से अंदर गई। वहां से शराब की बोतल उठाई और फिर से पीना शुरू कर दिया। नशे में बेसुध होकर वह फिर सो गई। कमरे में एक तरफ बच्ची की लाश पड़ी थी और दूसरे कोने में राजमीत नशे में बेसुध सोई हुई थी। पुलिस अब तक महिला से सही तरीके से बात नहीं कर पाई है। दिनभर वह नशे में रही। ऐसे में केस दर्ज करने के लिए आसपास के लोगों से पूछताछ करती रही।

हिलाकर रख देने वाली इस घटना में दिनभर महिला से पुलिस बात नहीं कर पाई। खबर देने पर उसका पति हरमीत शनिवार शाम जगदलपुर से लौटा। हद तो तब हो गई जब पुलिस ने देखा कि हरमीत भी नशे में है। उसे पड़ोसियों और पुलिस से पहले ही घटना की जानकारी मिल चुकी थी, इसके बावजूद वह शराब पीकर ही घर लौटा। ऐसे में पुलिस उससे भी पूछताछ नहीं कर पा रही है।