भोजराम पटेल ने विदाई के बाद दफ्तर को किया प्रणाम,स्टाफ से बोले-कभी दुख लगा हो तो, माइंड मत करना

Chhattisgarh Crimes

कोरबा। IPS भोजराम पटेल का ट्रांसफर कर दिया गया है। ‌वो अब महासमुंद के एसपी पद की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं। ट्रांसफर होने के बाद उन्हें एसपी ऑफिस में विदाई दी गई। विदाई के बाद भोजराम पटेल ने अपने स्टाफ से बात की। इसके बाद जाते-जाते ‌वह सीढ़ियों पर झुक गए और अपने दफ्तर को प्रणाम किया है। जाते वक्त उन्होंने अपने स्टाफ से कहा कि यदि कभी मेरे कुछ कहने की वजह से मन को दुख हुआ हो तो माइंड मत करना, अच्छे से रहना।

Chhattisgarh Crimes

लंबे समय तक कोरबा एसपी की जिम्मेदारी संभाल चुके भोजराम पटेल अपने यूनिक आईडियाज के लिए जाने जाते हैं। इस बीच उन्हें महासमुंद की जिम्मेदारी दे दी गई है। शनिवार को उनके विदाई के उप्लक्ष्य में कार्यक्रम रखा गया था। जहां सभी पुलिस स्टाफ मौजूद थे। उसी दौरान एक ऐसा नजारा देखने को लोगों को मिल गया। जो यह बताता है कि भोजराम पटेल अपने काम से कितना प्रेम करते हैं।

दरअसल, विदाई के बाद भोजराम सभी स्टाफ से दफ्तर के बाहर बात कर रहे थे। उन्होंने उनसे साफ कहा कि यदि कभी भी मेरी किसी से दिल दुख हो तो माइंड मत करना। इस पर एक पुलिस अधिकारी ने भी उनसे कह दिया कि कभी भी हमसे कोई भूल चूक हुई हो तो सर माफ करेंगे। इस पर भोजराम मुस्कुराने लगे और दफ्तर के सीढ़ियों के पास पहुंच गए। पहले तो उन्होंने अपना जूता उतारा। फिर सीढ़ियों पर झुककर ऑफिस को प्रणाम किया। जिसका वीडियो भी सामने आया है।

कई योजना शुरू की, पब्लिक की बीच खुद जाते हैं

भोजराम पटेल ने अपनी अलग तरह की कार्यशैली के लिए जाने जाते हैं। वो कोरबा में कई बार जनता के बीच जाते दिखाई दिए। तुंहर पुलिस तुंहर द्वार योजना, संगवारी पुलिस योजना जैसी तमाम योजना उन्होंने शुरू की थी। जिसके तहत पुलिसकर्मी अलग-अलग गांवों में लोगों के घर जाते थे। इसके बाद लोगों की शिकायत सुनी जाती थी। लोग भी पुलिस की इस पहल से काफी खुश हैं। कई बार तो भोजराम पटेल को लोगों के बीच बैठे देखा गया। वह सीधे जनता से जुड़कर समस्या वहां सुनते थे।