मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की घोषणा पर अभी तक नहीं हुई अमल

  • जनता से भेंट मुलाकात पर क्षेत्रीय मुखिया रखेंगे अपनी बात
  • इंदागांव के वर्षो पुरानी माँग आज भी अधूरा

Chhattisgarh Crimes

पूरन मेश्राम।

मैनपुर। विकासखंड मुख्यालय मैनपुर से लगभग 40 किलोमीटर की दूरी पर बसा हुआ ग्राम पंचायत इंदागांव क्षेत्र के हजारों वनवासी बुनियादी सुविधा के लिए मोहताज हैं।

क्षेत्र के समस्या ग्रस्त ग्रामीणों को मूलभूत बुनियादी सुविधा मिले इस दिशा में जिम्मेदार जनप्रतिनिधियों के साथ किसान मजदूर संघर्ष समिति उदंती क्षेत्र के मुखियाओ के द्वारा वर्षों से सैद्धांतिक तौर पर आंदोलन धरना प्रदर्शन के साथ ही शासन प्रशासन से लिखित मौखिक बातचीत करते आ रही है लेकिन अभी तक सुविधाओं के नाम से यह क्षेत्र अछूता ही रह गया है। छत्तीसगढ़ के भूपेश बघेल सरकार के घोषणा पर भी अभी तक अमल होता नहीं दिख रहा है। विवश होकर क्षेत्रीय मुखियाओ के द्वारा बिंद्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र में प्रस्तावित 5 से 7 तारीख मुख्यमंत्री के आगमन पर जनता से भेंट मुलाकात के दौरान अपनी समस्या पर निराकरण के लिए बातचीत करने मन बनाये है।

Chhattisgarh Crimes

3 वर्ष पहले मुख्यमंत्री ने किया था घोषणा उप तहसील इंदागांव में खुलेगा इस पर नहीं हो सका अभी तक अमल

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के आगमन गरियाबंद में 6/9 /2019 को हुआ था जिसमें क्षेत्रीय मुखियाओ ने मांग किया कि तहसील आफिस मैनपुर की दूरी अधिक होने के कारण क्षेत्र के ग्रामीणों को भारी परेशानी होती है। इसलिए इंदागांव में उप तहसील खोली जावे मुख्यमंत्री ने मंच से ही घोषणा किया उसके बावजूद भी अभी तक धरातल में कुछ भी नहीं हुआ। यहाँ तक तहसील कोर्ट कैंप भी कोरोना काल से अभी तक बंद है। मुख्यमंत्री के घोषणा के अनुरूप उप तहसील इंदागांव में होनी चाहिए।

Chhattisgarh Crimes

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र इंदागाँव में बनने पूरा मापदंड पूरा उसके बावजूद भी अधूरा

विकासखंड मुख्यालय से 40 किलोमीटर की दूरी पर बसा हुआ क्षेत्र के केंद्र बिंदु ग्राम पंचायत इंदागांव आदिवासी बाहुल्य इलाका होने के साथ ही नदी नाले पगडंडी रास्ते से घिरा हुआ वनांचल इलाका है। बरसात के दिनों में 108,102 वाहनों की पहुंच गांव तक नहीं हो पाती है जिसके कारण ग्रामीणों को बेमौत काल के मुंह में समाते हुए अमूमन क्षेत्र में देखा गया है।

क्षेत्रवासी स्वास्थ्य के मामले में उड़ीसा क्षेत्रों पर निर्भर रहते हैं वर्षों से क्षेत्रवासी इंदागांव उप स्वास्थ्य केंद्र को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए मांग करते थक चुके लेकिन अभी तक इस पर कोई काम होता नहीं दिखता है। वास्तव में इंदागांव जिसके अंतर्गत 23 गांव 9 ग्राम पंचायत जनसंख्या 12000 के लगभग है। इंदागांव में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोला जाना नितांत आवश्यक है।

6 साल पहले शासकीय बैंक तो खुला कुछ दिन चला फिर हो गई बंद

क्षेत्रवासियों को मैनपुर मुख्यालय की दूरी अधिक होने के कारण 23गांव 9 ग्राम पंचायत के हजारों ग्रामीणों ने इंदागांव में शासकीय बैंक खोले जाने के लिए शासन प्रशासन से मांग किया गया था मांग के अनुरूप 6 साल पहले आईसीआईसीआई बैंक के शाखा तो खुला बकायदा ग्राम पंचायत इंदा गांव के नाम अपना खाता भी खुलवाया लेकिन कुछ दिन के बाद बैंक के मैनेजर यहां से गए तो वापस कभी नहीं आए इसलिए क्षेत्रवासियों के द्वारा ग्रामीण बैंक के शाखा खोलने के लिए मांग कर रहे हैं। बैंक शाखा खुलने के बाद बहुत सारे विकास मूलक कार्यों के भुगतान पाने मजदूर किसान पेंशन धारियों को लंबी दूरी तय करना नहीं पड़ेगा।

क्षेत्र के संघर्षशील मुखिया अर्जुन सिंह नायक, दीपक मंडावी,टीकम नागवंशी, रूप सिंह मरकाम, मंगल सोरी,हीरालाल ध्रुव भानु प्रताप सिन्हा, बनसिंह सोरी सुमन सोरी,लोकू लाल बस्तियां, रूपसिंह बस्तियां,रूपेश मसीह सहित ग्रामीण मुखिया बिंद्रा नवागढ़ विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री के प्रस्तावित दौरा कार्यक्रम में अपनी मांग को दोहराने की बात कही और उम्मीद भी किए हैं कि बुनियादी मांग जरूर पूरी होगी।