प्रियंका वाड्रा के एक फोन मात्र पर सीएम भूपेश बघेल द्वारा ऑक्सीजन उपलब्ध करवाना और छत्तीसगढ़ की जनता के साथ दोहरा व्यवहार करना ‘रोम जल रहा था और नीरो बंशी बजा रहा था’ को चरितार्थ करता है : संजय श्रीवास्तव

बेहतर प्रबंधन का केवल दावा करने वाले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सिर्फ़ दस जनपथ के इशारों पर अपनी प्रबंधन क्षमता दिखा रहे हैं

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा प्रियंका वाड्रा के एक फोन मात्र पर सूचना मिलते ही तत्काल ऑक्सीजन रवाना करने पर कहा कि यह अच्छी बात है। आपदा में हर जरूरतमंद की सहायता होनी चाहिए, यह राजनीति का भी विषय नहीं है परंतु छत्तीसगढ़ की जनता का सुध ना लेना, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी का दोहरा व्यवहार रोम जल रहा था और नीरो बंशी बजा रहा था जैसी परिस्थिति को चरितार्थ करता है। उन्होंने कहा कि क्या छत्तीसगढ़ कांग्रेस के नेता छत्तीसगढ़ की जनता को इस बात के लिए आश्वस्त कर सकते हैं कि भविष्य में छत्तीसगढ़ में किसी भी नागरिक की मौत ऑक्सीजन की कमी के चलते नहीं होगी।

Chhattisgarh Crimes

उन्होंने कहा कि पिछले दिनों छत्तीसगढ़ की राजधानी से लगे खरोरा क्षेत्र में कोरोना संक्रमण का इलाज करवा रहे 4 मरीजों की ऑक्सीजन की कमी के चलते मौत हो गई थी। बीते दिनों राजनांदगांव जिला मुख्यालय से 25 किमी. दूर स्थित डोंगरगांव में दो सगी बहनों समेत तीन लोगों की मौत हो गई। यहां तय वक्त पर पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिल सका, जिस कारण इनकी मौत हो गई थी। ऑक्सीजन की कमी से मौत के बाद जो हुआ वो और भी शर्मनाक था यहां नगर पंचायत के कचरा फेंकने वाले वाहन में शवों को ले जाया गया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल प्रियंका वाड्रा के कहने पर ऑक्सीजन की व्यवस्था में जिस तत्परता से जुटे ऑक्सीजन ले जाने टैंकर की व्यवस्था की, जितनी ईमानदारी से तत्काल पहल की, यदि इतनी ही तत्परता से छत्तीसगढ़ की जनता की आवाज सुनकर ऑक्सीजन सहित अन्य स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाते शव वाहन की व्यवस्था करवाते तो आज छत्तीसगढ़ की यह हालत नहीं होती। छत्तीसगढ़ की जनता को स्वास्थ्य सुविधाओं और ऑक्सीजन के लिए नहीं भटकना पड़ता।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता श्री श्रीवास्तव ने कहा कि बेहतर प्रबंधन का केवल दावा करने वाले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सिर्फ़ दस जनपथ के इशारों पर अपनी प्रबंधन क्षमता दिखा रहे हैं, यह दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि आज छत्तीसगढ़ में लगातार संक्रमितों की संख्या बढ़ रही हैं। संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती करने जगह नहीं है। ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी है वेंटिलेटर का अभाव है। जो संक्रमित घर पर आइसोलेशन में हैं, उन्हें भी ऑक्सीजन की जरूरत पड़ रही है। इस दिशा में सरकार का कहीं कई प्रयास नहीं दिखता, कोई प्रबंधन नजर नहीं आता। प्रदेशभर के छोटे बड़े कोविड सेंटर्स में ऑक्सीजन की उपलब्धता, सिलेंडर और अन्य मशीनरी की कमी लगातार बनी हुई है परंतु सिर्फ दस जनपथ के इशारों पर एक्शन में आने वाले सीएम भूपेश बघेल इस विषय पर अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठा पाए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से छत्तीसगढ़ की जनता के हित में तत्काल ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था करने व सभी कोविड सेंटर में 24 घण्टे पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता आपसे मुख्यमंत्री होने के नाते इस बात की उतनी ही उम्मीद करती हैं जितनी उम्मीद प्रियंका वाड्रा को कांग्रेस के सच्चे सिपाही होने के नाते आपसे रही होगी। प्रियंका वाड्रा की उम्मीदों पर खरा उतरने वाले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जनता की उम्मीद पर भी खरे उतरिये, यही आपसे अपेक्षा है।

भाजपा प्रवक्ता श्री श्रीवास्तव ने कहा कि राजनीति करना, केंद्र पर आरोप मढ़ना और राजनीति के लिए परिस्थिति निर्मित कर राजनीति करने में कांग्रेस को महारत हासिल है। आज देश के तमाम राज्य अपने राज्य के नागरिकों के लिए वैक्सीन बुक करवा रहे हैं और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पत्र लिखने, आरोप मढ़ने की राजनीति में व्यस्त है। भविष्य में जब अन्य राज्य वैक्सीन का उठाव प्रारम्भ करेंगे, पहले आओ पहले पाओ के तहत जब उन राज्यों में वैक्सीन की आपूर्ति की जाएगी तब यही हाथ-पर-हाथ धरे बैठे कांग्रेस के नेता केंद्र पर दोहरे व्यवहार का आरोप लगाते हुए राजनीति करेंगे और एक बार फिर छत्तीसगढ़ की जनता का अहित करेंगे।