कोटा में कोचिंग स्टूडेंट की गुजरात से मिलने आये उसके बॉयफ्रेंड ने ही कर दी हत्या

Chhattisgarh Crimes

बिलासपुर/कोटा। कोटा में कोचिंग स्टूडेंट की उसके बॉयफ्रेंड ने ही हत्या कर दी। रावतभाटा में जवाहर सागर के जंगलों में बुधवार देर रात उसकी लाश मिली। छात्रा 2 दिन से लापता थी। छात्रा की कुछ दिनों पहले इंस्टा पर गुजरात के युवक से दोस्ती हुई थी। पुलिस ने गुजरात के गांधीनगर से आरोपी युवक को हिरासत में ले लिया है।

पुलिस ने बताया बिलासपुर की रहने वाली छात्रा (17) करीब डेढ़ महीने पहले कोटा में नीट की तैयारी करने के लिए आई थी। वह राजीव गांधी नगर स्थित एक हॉस्टल में रहकर निजी कोचिंग संस्थान से मेडिकल की कोचिंग कर रही थी। 6 जून की सुबह वह कोचिंग जाने की बात कहकर हॉस्टल से निकली थी। छात्रा कोचिंग भी गई, लेकिन बाद में हॉस्टल नहीं लौटी। इसके बाद छात्रा की लापता होने की रिपोर्ट जवाहर नगर थाने में दर्ज करवाई गई।

पुलिस ने हॉस्टल और कोचिंग के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो सामने आया कि छात्रा एक लड़के के साथ स्कूटी पर बैठकर गई। पुलिस तलाश में जुटी ही थी कि बुधवार सुबह पुलिस को सूचना मिली, छात्रा बोराबास के जंगलों में हो सकती है।

पुलिस ने बोराबास के जंगल खंगालना शुरू किया तो देर शाम को छात्रा का शव जवाहर सागर एरिया में जंगल में मिला। इस पर पुलिस के आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और एफएसएल की टीम ने मौका मुआयना किया। SP केसर सिंह ने बताया कि पोस्टमाॅर्टम के बाद कुछ स्पष्ट हो पाएगा कि हत्या किस तरह से की गई। फिलहाल लड़के पर शक है, उसे हिरासत में ले लिया गया है।

सोशल मीडिया पर हुई थी लड़के से दोस्ती

पुलिस ने जब जानकारी जुटानी शुरू की सोशल मीडिया पर दोस्ती के बाद युवक 4 जून को गुजरात से कोटा आया था। यहां वह छात्रा से मिला। इसके बाद 6 जून को दोनों घूमने के लिए कोटा डैम की तरफ गए थे। वारदात के बाद लड़का गुजरात भाग गया था, लेकिन कोटा पुलिस टीम ने गुरुवार सुबह उसे गांधीनगर से पकड़ लिया है।

छात्रा 12वीं क्लास में थी। वह अपने घरवालों से रोज बात करती थी। 2 दिन पहले जब घरवालों ने उसे फोन लगाया तो उसका फोन बंद आया। बार-बार फोन बंद आने से चिंतित परिजनों ने कोटा पुलिस से संपर्क किया।

युवक ने पी थी शराब

पुलिस सूत्रों के अनुसार छात्रा को जंगल की तरफ ले जाने से पहले युवक ने शराब भी पी थी। यह बात भी सामने आ रही है कि जंगल में भी आरोपी ने शराब पी। वहीं, छात्रा के लापता होने की जानकारी के बाद ही परिजन कोटा पहुंच गए थे।

पिता बोले- बेटी को ब्लैकमेल करने की शक

पिता आमीन ने बताया कि बेटी पढ़ाई में बहुत होशियार थी। वह डॉक्टर बनना चाहती थी। उन्होंने कहा- सोशल मीडिया पर चैटिंग और दोस्ती आम बात है, लेकिन कोई लड़का कोटा तक पहुंच जाए और बेटी की हत्या कर दे, इसके पीछे प्लानिंग हो सकती है। कहा- हमें तो शक है कि कहीं मामला ब्लैकमेलिंग का न हो।