कलेक्टर निलेशकुमार क्षीरसागर पहुंचे बल्दीबाई के द्वार, घटना के संबंध में ली जानकारी, गांव का भी जाना हालचाल

Chhattisgarh Crimes

गरियाबंद। कलेक्टर निलेशकुमार क्षीरसागर ने आज कुल्हाड़ीघाट पहुंचकर बल्दीबाई के परिवार से मुलाकात की और घटना के संबंध में जानकारी ली। इस दौरान कलेक्टर ने बल्दीबाई को शॉल और श्रीफल भेंटकर सम्मानित किया और विपदा की घड़ी में हर संभव मदद का भरोसा दिलाया।

गौरतलब है कि बीते दिनों बल्दीबाई की पुत्रवधू और बच्चे की प्रसव के दौरान अभनपुर के एक निजी अस्पताल में दुखद मौत हो गयी थी। पीड़ित परिवार को सरकारी योजना का लाभ नही मिलने के कारण कर्ज लेकर अस्पताल का बिल चुकाना पड़ा था। कलेक्टर ने इस संबंध में जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी से भी जानकारी हासिल की है।

हालाकिं मामले की जांच को लेकर राज्य प्रशासन द्वारा एक तीन सदस्यीय जांच टीम का गठन कर 10 दिवस में रिपोर्ट पेश करने के निर्देश जारी किए है। पीड़ित परिवार को उम्मीद है कि उन्हें न्याय जरूर मिलेगा।

कुल्हाड़ीघाट दौरे पर पहुंचे कलेक्टर ने ना केवल गांव का निरीक्षण किया बल्कि ग्रामीणों से चर्चा भी की।कलेक्टर ने ग्रामीणों द्वारा उनके समक्ष रखी समस्याओं के जल्द निराकरण का भरोसा दिलाया। ग्रामीणों ने गांव में बालक आश्रम संचालित करने और बंद पड़ी सौर ऊर्जा को चालू करने की मांग कलेक्टर के समक्ष रखी।

यहां यह बताना लाजमी होगा कि निलेशकुमार क्षीरसागर जिले के पहले कलेक्टर नही है जो बल्दीबाई से मिलने पहुंचे हो बल्कि इससे पहले भी कई कलेक्टर बल्दीबाई की दहलीज पर पहुंचे है। सभी ने बल्दीबाई को हर संभव मदद का भरोसा दिलाया भी दिलाया। मगर बल्दीबाई की तकदीर आज तक नही बदल पायी।