छत्‍तीसगढ़ में शुरू हुई गोमूत्र खरीदी : सीएम बघेल बने पहले विक्रेता, हरेली पर्व पर गेड़ी के साथ झूले का लिया आनंद

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। हरेली तिहार के अवसर पर मुख्‍यमंत्री निवास में रौनक देखी जा रही है। हरेली तिहार के मौके पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कृषि यंत्रों की विधिवत पूजा अर्चना की। गौमाता को मुख्यमंत्री ने चारा खिलाया और उसकी पूजा कील राउत नाचा, करमा नृत्य, आदिवासी नृत्य के लोक कलाकार परंपरागत छत्तीसगढ़िया वाद्य यंत्रों के धुन पर थिरक रहे हैं। इस मौके पर सीएम ने झूले का भी आनंद लिया।

Chhattisgarh Crimes

इस मौके पर मुख्‍यमंत्री ने गोमूत्र की खरीदी की शुरुआत करते हुए भूपेश बघेल छत्‍तीसगढ़ के पहले गोमूत्र विक्रेता बने। सीएम बघेल ने चंदखुरी की निधि स्व सहायता समूह को 5 लीटर गौमूत्र बेच कर 20 रूपए अर्जित किए। हरेली पर्व पर पूजा अर्चना कर मुख्यमंत्री ने की प्रदेश की खुशहाली की कामना साथ ही स्व सहायता समूहों को प्रोत्साहन राशि का वितरण किया। मुख्यमंत्री बघेल किसानों के साथ इस पर्व को धूमधाम से मना रहे हैं। छत्‍तीसगढ़ देश का पहला ऐसा राज्य है, जहां सरकार गोधन न्याय योजना के तहत अब गोबर के अलावा गोमूत्र की खरीदी कर रही है।

गौमाता को मुख्यमंत्री जी ने चारा खिलाया और उसकी पूजा कीl

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कई नवाचारों का आगाज करेंगे। इसके अलावा मुख्यमंत्री महतारी न्याय रथ यात्रा की शुरुआत की जाएगी। मुख्यमंत्री महतारी न्याय रथ शुरूआत में खनिज न्यास निधि प्राप्त करने वाले नौ जिलों दुर्ग, रायपुर, राजनांदगांव, बलौदाबाजार-भाटापारा, महासमुंद, जांजगीर-चांपा, गरियाबंद, धमतरी, कांकेर में जाएगा। इसके बाद रथ प्रदेश के बाकी बचे जिलों के भ्रमण पर जाएगा। ‘बात हे अभियान के महिला मन के सम्मान के सूत्र वाक्य के साथ यह यात्रा शुरू होगी। रथ में लगी एलईडी स्क्रीन के मााध्यम से महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरुक करने को शार्ट फिल्म दिखाई जाएगी। रथ में दो अधिवक्ता भी होगे जो महिलाओं की समस्याओं का समाधान करने के साथ उनसे आवेदन भी लेंगे, ताकि महिला आयोग से मदद दिलाई जा सके। इस अभियान के तहत महिलाओं को नि:शुल्क कानूनी सहायता दी जाएगी।

गौमाता को मुख्यमंत्री जी ने चारा खिलाया और उसकी पूजा कीl

मुख्यमंत्री-राज्यपाल ने दी बधाई

हरेली तिहार पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और राज्यपाल अनुसुईया उइके राज्यवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। राज्यपाल ने अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि छत्तीसगढ़ में हरेली त्यौहार का विशेष महत्व है। इस पर्व पर किसान अपने कृषि उपकरणों और कृषि कार्य में सहयोग करने वाले पशुओं की पूजा-अर्चना कर अच्छे फसल की कामना की जाती है। राज्यपाल ने इस अवसर पर किसानों सहित प्रदेश के सभी नागरिकों की सुख- समृद्धि एवं खुशहाली की कामना की है। वहीं मुख्यमंत्री बघेल ने कहा है कि हरेली छत्तीसगढ़ के जन-जीवन में रचा-बसा खेती-किसानी से जुड़ा पहला त्यौहार है। इसमें अच्छी फसल की कामना के साथ खेती-किसानी से जुड़े औजारों की पूजा की जाती है। इस दिन धरती माता की पूजा कर हम भरण पोषण के लिए उनका आभार व्यक्त करते हैं।

मुख्यमंत्री निवास में हरेली के विविध रंग

Chhattisgarh Crimes