रोजाना पिएं त्रिफला छाछ, वजन घटाने के अलावा डाइजेशन को भी रखेगी ठीक

Chhattisgarh Crimes

सेहत के लिए त्रिफला का सेवन बेहद फायदेमंद है माना जाता है। त्रिफला तीन चीजों से मिलकर बनता है,आंवला, बिभीतकी और हरिताकी। त्रिफला एक आयुर्वेदिक दवा है इसका इस्तेमाल आयुर्वेदिक में दवाओं के लिए किया जाता है। त्रिफला को आप कई तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं। ये औषधी गुणों से भरपूर मानी जाती है। त्रिफला कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन बी, पोटैशियम और एंटी बैक्‍टीरियल गुणों से भरपूर होता है। ये बॉडी के तापमान को कंट्रोल रखती है, साथ ही पेट की बीमारियों को भी दुरुस्त रखती है। अगर खाना ज्यादा स्पाइसी हो तो उसके साथ छाछ पी सकते है ये सीने में जलन को कम करती है और ठंडक देती है। छाछ को गर्मियों के मौसम में काफी फायदेमंद माना जाता है ये गर्मी में लू से बचाती है।

पेट में गैस, या कब्ज से परेशान रहते हैं तो छाछ का इस्तेमाल कीजिए। इससे आपका पाचन सुधरेगा। त्रिफला वाली छाछ पीने से गैस और इनडाइजेशन से राहत मिलती है। अगर आप बढ़े हुए वजन से परेशान हैं तो त्रिफला का सेवन कीजिए। त्रिफला पीने से वजन आसानी से कम किया जा सकता है।

त्रिफला छाछ पीने के फायदे

1. त्रिफला को पाचन के लिए अच्छा माना जाता है। अगर आपको पेट गैस और कब्ज की समस्या है तो आप त्रिफला छाछ पीए। ये पाचन को बेहतर रखने में मदद करता है।

2. अगर आप बढ़े हुए वजन से परेशान है और वेट लॉस करना चाहते हैं तो आप त्रिफला छाछ को डाइट में शामिल करें। त्रिफला पेट की चर्बी को कम करने में मदद कर सकता है।

3. त्रिफला छाछ के सेवन से कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल किया जा सकता है। ये शरीर की सूजन और फैट को कम करने में मददगार माने जाते हैं। .

त्रिफला छाछ बनाने के लिए आपको सबसे पहले त्रिफला चूर्ण को एक कप पानी में भिंगाना है। जब यह भीग जाएं तो इसमें छाछ मिला दें और काला काला नमक डाले दे। अब इसमें पिसा हुआ पुदीना मिलाएं, आप थोड़ी सी चीनी और काली मिर्च पाउडर भी डाल सकते हैं।

Disclaimer:यह जानकारी आयुर्वेदिक नुस्खों के आधार पर लिखी गई है।  इनके इस्तेमाल से पहले चिकित्सक का परामर्श जरूर लें।