राज्यसभा चुनाव में क्रॉस वोटिंग का भय, हरियाणा से रायपुर पहुंचे कांग्रेस विधायक, कड़ी सुरक्षा के बीच होटल पहुंचे

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। हरियाणा के राज्यसभा चुनाव में क्रास वोटिंग का खतरा मंडरा रहा है। चुनाव में खरीद-फरोख्त से बचने कांग्रेस ने अपने 28 विधायकों को छत्तीसगढ़ भेज दिया है। हरियाणा कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों सहित कुल 34 लोग रायपुर पहुंचे हैं। सभी विधायकों को कड़ी सुरक्षा के बीच स्वामी विवेकानंद एयपोर्ट से सीधे नवा रायपुर के होटल और रिसार्ट ले जाया गया। हरियाणा में राज्यसभा चुनाव में एक सीट के लिए 31 विधायकों के समर्थन की जरूरत है। कांग्रेस के पास ठीक 31 विधायक हैं, लेकिन खरीद-फरोख्त की आशंका है, इसलिए विधायकों को दिल्ली होते हुए छत्तीसगढ़ भेजा गया है।

90 सदस्य संख्या वाली हरियाणा विधानसभा में राज्य सभा की 2 सीटों के लिए चुनाव हो रहे हैं। कांग्रेस ने यहां से अजय माकन को टिकट दिया है। वहीं भाजपा ने कृष्णलाल पंवार को प्रत्याशी बनाया है। पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा के बेटे कार्तिकेय शर्मा ने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर नामांकन दाखिल कर दिया है। हरियाणा में राज्यसभा सीट जीतने कांग्रेस के पास 31 विधायक हैं, लेकिन कार्तिकेय शर्मा की दावेदारी ने पेंच फंसा दिया है। कार्तिकेय के ससुर कुलदीप शर्मा हरियाणा कांग्रेस पार्टी से विधायक हैं। गुरुवार को केंद्रीय नेतृत्व ने सभी विधायकों को दिल्ली बुलाया था। उसके बाद सभी लोगों को रायपुर रवाना किया गया। सभी विशेष विमान से देर शाम रायपुर एयरपोर्ट पहुंचे।

राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस को क्रास वोटिंग का डर

भाजपा के पास 40 व कांग्रेस के पास अपने 31 विधायक हैं। 31 विधायकों के समर्थन से कांग्रेसी प्रत्याशी की जीत तय है, लेकिन कांग्रेस को खतरा क्रॉस वोटिंग से है। ऐसा इसलिए कि कहीं 2016 की तरह की अप्रत्याशित घटना यानी पेनकांड न हो जाए। कोई विधायक अपना वोट रद्द ना करवा ले। कार्तिकेय के पास भाजपा, जजपा, निर्दलीय और गोपाल कांडा का समर्थन है। हालांकि यह सभी मिलकर 31 तक नहीं पहुंचते हैं और गिनती में 28 ही बनते हैं, लेकिन कांग्रेस में जिस तरीके से पार्टी के अंदर ही कई नेताओं में नाराजगी चल रही है, उसे देखते हुए यह संभावना जताई जा रही है कि कार्तिकेय उलटफेर कर सकते हैं।

कांग्रेस का राजनीतिक पर्यटन केंद्र बना छत्तीसगढ़: साय

राज्य के मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी ने हरियाणा के विधायकों को रायपुर लाए जाने को लेकर कहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कांग्रेस का इंतजाम करने वाले रह गए हैं। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने एक बयान में कहा कि छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल दिल्ली में कांग्रेस के मालिकों के सामने छत्तीसगढ़ का मान, सम्मान, स्वाभिमान गिरवी रख आए हैं। अब इनका काम इनके मालिकों की जी हजूरी करना ही रह गया है। भूपेश बघेल इंतजाम अली बनकर रह गए हैं। साय ने कहा है कि हमारे मुख्यमंत्री कांग्रेस के दिल्ली दरबार को कुर्सी की कीमत चुका रहे हैं। छत्तीसगढ़ को कांग्रेस का एटीएम बनाया तो बनाया। साथ ही राज्य को कांग्रेस का राजनीतिक पर्यटन केंद्र भी बना दिया।