दोस्त ही निकला हत्यारा, अवैध संबंध के शक में ली थी जान

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। साथी मजदूर की हत्या कर शव को नाले में फेंकने के आरोप में टिकरापारा पुलिस ने युवक को गिरफ्तार किया है. हत्या के बाद आरोपी पुलिस को गुमराह करने खुद प्रार्थी बन कर मृतक की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस ने दूध का दूध और पानी का पानी कर दिया.

टिकरापारा पुलिस ने आरोपी राम विलास चौहान को हत्या के मामले में गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक आरोपी ने जांच के दौरान युवक की करंट से मौत होने की बात बताई थी. इसके बाद शव को नाले में फेंकने की बात कबूल किया था, लेकिन पीएम रिपोर्ट में कुछ और ही खुलासा हुआ. पीएम रिपोर्ट में भारी भरकम चीज से सिर पर वार कर हत्या की पुष्टि की गई है.

आरोपी ने 26 मार्च को सुभाष राजभर की हत्या के बाद शव को नाले में फेंक दिया था. इसके बाद आरोपी ने गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी. हैरान करने वाली बात है कि हत्या को छुपाने के लिए करंट लगने से मौत होना बताया था. इसके बाद शव को नाले में फेंक दिया था. पुलिस ने शव बरामदगी कर पीएम कराया तब मामले का खुलासा हुआ.

टिकरापारा थाना प्रभारी संजीव मिश्रा ने बताया कि मूलत: गाजीपुर उत्तरप्रदेश निवासी रामविलास चौहान ने उत्तरप्रदेश के ही निवासी अपने साथी सुभाष राजभर की हत्या की है. आरोपी पहले करंट लगने से मौत होने की बात बता रहा था, लेकिन पोस्ट मार्टम रिपोर्ट में गंभीर चोट के निशान थे.

पुलिस ने बताया कि आरोपी से कड़ाई से पूछताछ की गई, जिस पर उसने अपना जुर्म कबूल लिया. आरोपी युवक पर यह शक करता था कि वह उसकी पत्नी पर गलत नजर रखता है. इसी के कारण उसने सिर पर डंडे से वार कर उसे मौत के घाट उतार दिया था. पुलिस ने आरोपी को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है.