नक्सल दंपत्ति ने किया आत्मसमर्पण

Chhattisgarh Crimes

बीजापुर। नक्सलियों पर भेदभाव और प्रताडऩा का आरोप लगाते हुए मिलिट्री कमेटी सदस्य रहे नक्सल दंपत्ति ने आज पुलिस अधिकारियों के सामने आत्म समर्पण किया।डीआईजी सीआरपीएफ कोमल सिंह व एसपी बीजापुर कमलोचन कश्यप के समक्ष नक्सली दंपत्ति ने आत्मसमर्पण कर दिया।

एसपी कमलोचन कश्यप ने बताया कि इंद्रावती एरिया कमेटी के मिलिट्री प्लाटून सदस्य फागु कोवासी (26 वर्ष) निवासी बोडग़ा भैरमगढ़ व उसकी पत्नी मोतिन कोवासी (25 वर्ष) जो कि क्रांतिकारी आदिवासी महिला संगठन की सदस्या रहीं, ने नक्सलियों की खोखली विचारधारा, भेदभाव व प्रताडऩा से तंग आकर भारतीय संविधान के प्रति आस्था जताते हुए विकास की मुख्यधारा से जुडऩे का फैसला लिया है।

उन्होंने बताया कि फागु कई बड़ी घटनाओं में शामिल रहा, उस पर 2 लाख का ईनाम घोषित है। वहीं फागु की पत्नी मोतीन वर्ष 2018 से वर्ष 2021 तक केएएमएस सदस्या के रूप में काम कर रही थी। उन्होंने बताया कि समर्पण के बाद नक्सली दंपत्ति को उत्साहवर्धन हेतु समर्पण नीति के तहत दस-दस हजार रुपये प्रोत्साहन राशि दी गई।