नक्सलियों ने कहा- हम भी किसानों के साथ, कानून के खिलाफ जारी रहे आंदोलन

Chhattisgarh Crimes

बीजापुर। नक्सलियों ने किसानों के हड़ताल को अपना समर्थन दिया है। इसके साथ ही नक्सलियों ने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के भारत दौरे का विरोध किया है। नक्सलियों ने प्रेस नोट जारी कर 26 जनवरी के मौके पर होने वाले समारोहों के बहिष्कार करने का भी ऐलान किया है।

भाकपा (माओवादी) दण्डकारण्य स्पेशल जोनलकमेटी के प्रवक्ता विकल्प द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि 3 कृषि कानूनों के विरोध में देश में चल रहे जुझारू किसानों के आंदोलन का हमारी पार्टी समर्थन करती है। साथ ही किसानों से यह आह्वान करती है कि वे अपने आंदोलन को तब तक जारी रखें, जब तक सरकार इन कानूनों को वापस नहीं ले लेती।

नक्सलियों ने किसानों से कहा है कि वे सरकार के झूठे व कोरे आश्वासनों पर भरोसा नहीं करें और कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग पर अड़े रहें। इस आंदोलन में संघर्षरत किसान अकेले नहीं है, बल्कि देश की जनता, मजदूर वर्ग समेत हर वर्ग के लोगों का इस आंदोलन को व्यापक समर्थन मिल रहा है।

ब्रिटिश PM के भारत दौरे का विरोध नक्सलियों ने आगामी 26 जनवरी पर होने वाले समारोहों के बहिष्कार करने की घोषणा की है। वहीं गणतंत्र दिवस के मौके पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के भारत दौरे पर भी ऐतराज जताते हुए इसका विरोध करने की बात प्रेसनोट में कही है।