पंजाब सरकार के हेल्थ मिनिस्टर गिरफ्तार : कुछ देर पहले CM मान ने बर्खास्त किया था, टेंडर और खरीद-फरोख्त में 1% कमीशन का था आरोप

Chhattisgarh Crimes

चंडीगढ़। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने स्वास्थ्य मंत्री डॉ. विजय सिंगला को अपनी कैबिनेट से हटा दिया है. बताया जा रहा है कि उन पर रिश्वत लेने के आरोप लगे हैं, जिसके बाद उन्हें मंत्रिमंडल से बाहर का रास्ता दिखाया गया है. पंजाब पुलिस की भ्रष्टाचार निरोधक शाखा ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है. मुख्यमंत्री भगवंत मान के निर्देश पर डॉ. विजय सिंगला के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था. इस बार के पंजाब विधानसभा चुनाव में डॉ. विजय सिंगला ने मानसा से प्रसिद्ध गायक और कांग्रेस उम्मीदवार सिद्धू मूसेवाला को 60,000 से अधिक वोटों से हराया था.

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने अपने मंत्री पर कार्रवाई को लेकर क्या कहा?

रिपोर्ट्स के मुताबिक विजय सिंगला ने ठेके के आवंटन में कॉन्ट्रैक्टर से 1% कमीशन की मांग रखी थी. उनके खिलाफ पक्के सबूत मिलने के बाद मुख्यमंत्री भगवंत मान ने उन्हें अपने मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने का फैसला लिया. अपने मंत्री के खिलाफ कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री मान ने कहा, ‘अरविंद केजरीवाल ने मुझे कहा था कि मैं एक पैसे की रिश्तखोरी, बेईमानी बर्दाश्त नहीं करूं. मैंने उन्हें वचन दिया था ऐसा नहीं होगा. हम आंदोलन से निकले हुए लोग हैं, और वह आंदोलन भ्रष्टाचार के खिलाफ था.’

मैं चाहता तो केस को दबा सकता था, लेकिन यह धोखा होता : CM मान

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आगे कहा, ‘मेरे ध्यान में एक केस आया. इस केस में मेरी सरकार का मंत्री शामिल था. एक ठेके में मेरी सरकार का मंत्री 1 फीसदी कमीशन मांग रहा था. इस केस का सिर्फ मुझे पता था. इस केस को दबाया जा सकता था. लेकिन ऐसा करना पंजाब की जनता के साथ धोखा होता. इसलिए मैं उस मंत्री के खिलाफ एक्शन ले रहा हूं. तुरंत एक्शन लिया जा रहा है. मंत्री का नाम विजय सिंगला है और उनके खिलाफ पुलिस को केस दर्ज करने का निर्देश दे दिया गया है.’ सीएम मान ने कहा, यह सुनिश्चित करने के लिए विजय सिंगला पर कार्रवाई की गई है कि अन्य मंत्री भ्रष्ट आचरण से मुक्त रहें.