रमन सिंह ने महामारी पर मुख्यमंत्री को घेरा, कांग्रेस बोली, आप भी तो बिना मास्क के बल्ला चला रहे थे

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। कोरोना महामारी के कहर के बीच छत्तीसगढ़ की राजनीति में आरोपों का खेल तेज हो गया है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की स्टेडियम में मैच देखते हुए एक तस्वीर पोस्ट कर स्थिति की भयावहता के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया। जवाब में कांग्रेस ने एक स्थानीय क्रिकेट प्रतियोगिता का उद्घाटन करते डॉ. रमन सिंह की फोटो साझा कर उनको भी जिम्मेदार ठहराया है।

Chhattisgarh Crimes

छत्तीसगढ़ के परिवहन विभाग के सहयोग से नवा रायपुर के शहीद वीर नारायण सिंह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय मैच हुए थे। 5 से 21 मार्च तक हुए आयोजन के उद्घाटन और समापन समारोह में खुद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी स्टेडियम में दर्शकों के बीच मौजूद रहे। इसी दौरान प्रदेश में कोरोना महामारी की दूसरी लहर का प्रकोप शुरू हुआ। भाजपा इस मैच को ही महामारी बढ़ने के लिये जिम्मेदार बता रही है।

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मैच देखते हुए वीडियो साझा किया। उसके साथ लिखा, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी यदि आपने क्रिकेट मैच कराने की जिद न कि होती तो आज प्रदेश की स्थिति भयावह न हुई होती। उम्मीद है अब आपको यह याद रहेगा कि जनता ने आपको छत्तीसगढ़ की सेवा के लिए चुना है। असम में डेरा डालने और बेवजह के कार्यक्रम कराने की गलती फिर नहीं करेंगे।

कांग्रेस के जवाबी वीडियो में बल्ला घुमाते दिखे डॉ. रमन

जवाब में कांग्रेस ने राजनांदगांव के मोतीपुर स्कूल मैदान में आयोजित एक रात्रिकालीन क्रिकेट प्रतियोगिता के समापन पुरस्कार वितरण समारोह का वीडियो जारी किया है। इसमें खुद डॉ. रमन सिंह भीड़ के बीच बल्ला घुमाते नजर आ रहे हैं। मधु कप रात्रिकालीन टेनिस बॉल क्रिकेट प्रतियोगिता का आयोजन एक से 11 फरवरी तक हुआ था। इस उद्घाटन डॉ. रमन सिंह के पुत्र और राजनांदगांव के पूर्व सांसद अभिषेक सिंह ने किया था। इसकी भी तस्वीर कांग्रेस ने जारी की है।

कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने कहा, छत्तीसगढ़ के लोग जब मुश्किल में हैं तब एक डॉक्टर की ट्विटर पर ट्रोल बनकर अफवाह फैलाने की स्तरहीन राजनीति दुखद है। रमन सिंह खुद राजनांदगांव के एक क्रिकेट मैच में मुख्य अतिथि बनते हैं। बिना मास्क लगाये क्रिकेट खेलते हैं। उनके पुत्र भी मुख्य अतिथि बनते हैं। केवल कांग्रेस पर आरोप मढ़ने के लिए इस स्तर की राजनीति आपत्तिजनक है।