स्वच्छ भारत मिशन 2.0 कार्यक्रम के शुभारंभ में शामिल हुए नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ डहरिया

प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में नई दिल्ली में आयोजित की गई कार्यक्रम

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा मिशन अमृत 2.0 एवं स्वच्छ भारत मिशन 2.0 का शुभारंभ किया गया। इस कार्यक्रम में सभी प्रदेशों के शहरी एवं आवासन मंत्रालय के मंत्री, नगरीय प्रशासन के सचिव तथा उच्चाधिकारियों भी शामिल हुए। कार्यक्रम में देश के समस्त नगरीय निकाय, प्रदेश तथा भारत सरकार के मध्य पोर्टल के माध्यम से अमृत मिशन 2.0 तथा स्वच्छ भारत मिशन 2.0 का क्रियान्वयन डिजिटल रूप से किए जाने तथा मिशन के प्रति प्रतिबद्धता दर्शाने हेतु एमओयू डिजिटल हस्ताक्षरित किए गए।

शहरी कार्य मंत्रालय के सचिव द्वारा छत्तीसगढ़ के प्रदेश में संचालित स्वच्छ भारत मिशन तथा अमृत मिशन का क्रियान्वयन के मॉडल की प्रशंसा की गई । प्रदेश में अंबिकापुर पिछले तीन सर्वेक्षणों में उच्च स्थान हासिल करने में सफल रहा है, वही प्रदेश स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 में प्रथम स्थान पर रहा था। मिशन अमृत के क्रियान्वयन में भी प्रदेश ने अव्वल स्थान प्राप्त किया है।

नई दिल्ली में आयोजित इस कार्यक्रम में स्वच्छ भारत मिशन तथा मिशन अमृत में छत्तीसगढ़ प्रदेश के अनुभव साझा किए जाने हेतु नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग की सचिव श्रीमती अलरमेल मंगई डी. द्वारा प्रस्तुतीकरण के माध्यम से छत्तीसगढ़ प्रदेश में किए जा रहे अनेकों नवाचार में से सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली स्वच्छता दीदियों के योगदान तथा अंबिकापुर के साथ साथ प्रदेश के समस्त नगरीय निकायों द्वारा किए जा रहे कार्यों का वर्णन संक्षेप में दिया गया। कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ राज्य में संचालित गोधन न्याय योजना एवं स्वच्छ भारत मिशन का कन्वर्जेंस मॉडल एवं जीरो लैंडफिल शहरों हेतु छत्तीसगढ़ द्वारा किये जा रहे प्रयास , वेस्ट मैजेमेंट के माध्यम से ग्रीन -जॉब आदि की चर्चा रही।

कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के मंत्री डॉ शिवकुमार डहरिया , महापौर रायपुर नगर निगम एजाज ढेबर, महापौर नगर निगम बिलासपुर रामशरण यादव, महापौर नगर निगम अंबिकापुर अजय तिर्की , पाटन के अध्यक्ष भूपेंद्र कश्यप , मुख्य कार्यपालन अधिकारी राज्य शहरी विकास अभिकरण छत्तीसगढ़  सौमिल रंजन चौबे, आयुक्त नगर पालिक निगम कोरबा कुलदीप शर्मा तथा अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी शामिल हुए।