बस्तर फाइटर्स फोर्स में 9 थर्ड जेण्डरों का हुआ चयन

Chhattisgarh Crimes

जगदलपुर। छ्त्तीसगढ़ के बस्तर में बस्तर फाइटर्स फोर्स में 2100 स्थानीय युवक युवतियों का चयन हुआ है। खास बात यह है कि, इस फोर्स में 9 तृतीय लिंग यानी थर्ड जेंडर भी चयनित हुईं हैं। इनमें से 8 कांकेर और 1 बस्तर जिले की हैं। बस्तर में पहली बार थर्ड जेंडर श्रेणी के लोगों की पुलिस में भर्ती हुईं है। अब ये सभी नक्सल मोर्चे पर तैनात होंगी। हाथों में बंदूक उठा नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन में जाएंगी।

दरअसल, बस्तर संभाग में नक्सल मोर्चे पर एक नई फोर्स बस्तर फाइटर्स का गठन किया है। इसके तहत संभाग के सातों जिले में 300-300 पदों पर 2100 स्थानीय युवक-युवतियों की भर्ती की गई है। जब भर्ती प्रक्रिया चल रही थी तो उस समय थर्ड जेंडर श्रेणी के 9 लोगों ने जिनमें दिव्या, दामिनी, संध्या, सानू, रानी, हिमांशी, रिया, सीमा और बरखा ने भी आवेदन किया था। हालांकि, आइडेंटिटी समेत अन्य किसी कारण से इनके आवेदन को पहले रिजेक्ट किया गया था। लेकिन, फिर विरोध के बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया।

जिसके बाद आवेदन करने में आ रही समस्याओं का निराकरण किया गया। फिर सभी के डॉक्यूमेंट एक्सेप्ट कर लिए गए। पुलिस अधिकारियों की माने तो ट्रांसजेंडर्स ने बस्तर फाइटर्स फोर्स के फिजिकल, लिखित और इंटरव्यू ये सभी टेस्ट पास किए। वहीं संभाग के 9 थर्ड जेंडर का चयन बस्तर फाइटर्स फोर्स के लिए किया गया है। बस्तर के IG सुंदरराज पी ने बताया कि, बस्तर में पहली बार तृतीय लिंग श्रेणी के लोगों का पुलिस में चयन हुआ है। नक्सलियों के खिलाफ अब ये भी हथियार उठाएंगी।