व्यवसायी को मिली नक्सल संबंध की धमकी, पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ़्तार

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। राजधानी रायपुर के देवेंद्र नगर थाने में एक संगीन मामला सामने आया है. पुलिस ने बस्तर के एक कपड़ा कारोबारी को पकड़ा है. आरोप है कि उसका संबंध सीधे नक्सलियों से है. मामला सामने आने के बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर मुचलके पर छोड़ दिया.

बता दें, राजधानी के एक कपड़ा व्यापारी विजय अग्रवाल ने यह रिपोर्ट दर्ज कराई थी. पंडरी कपड़ा मार्केट में इनका दुकान है. नारायणपुर नौकार एम्पोरियम के संचालक संतोष जैन पर उन्होंने नक्सलियों से संबध होने का आरोप लगाया था. दरअसल 2 मार्च को संतोष जैन ने विजय अग्रवाल को ब्लैंक चेक देकर होलसेल में 2 लाख 42 हजार 166 रुपए का घाघरा चुन्नी उधारी में खरीदी थी. माल नहीं बिकने पर संतोष जैन ने 14 घाघरा चुन्नी वापस किए.

यहां रायपुर के कारोबारी विजय अग्रवाल का कहना था कि संतोष जैन ने जो कपड़े वापस किए थे वह उसके दुकान के थे ही नहीं. इसके बाद उन्होंने जब संतोष जैन से यह बात कही तो वह इस बात को मानने से इनकार करने लगा. इसे लेकर दोनों के बीच बहस शुरू हो गई और संतोष जैन ने 23 नवंबर को विजय अग्रवाल को फोन कर नक्सली संबध को बताते हुए धमकी दी.

इसके बाद रायपुर के कारोबारी ने देवेंद्र नगर थाने में इसकी शिकायत कर दी. प्रार्थी ने शिकायत दी थी जिसके बाद धारा 507 के तहत केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. चूंकि धारा जमानतीय था इसलिए उसे मुचलके पर छोड़ा गया है.

बता दे कि पिछले ही हफ़्ते मारुति लाइफस्टाइल निवासी एक व्यवसायी को व्हाट्सएप पर 10 करोड़ की फिरौती मांगी गई थी, फिरौती नहीं देने पर जान से मारने की धमकी मिली थी. पुलिस की जांच इस मामले में धीमी गति पर है, अज्ञात आरोपीयों की पहचान अब तक नहीं हो पाई है. अब लगता है कि छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भी व्यापारी वर्ग सुरक्षित नहीं है, लगातार 2 घटनाओं से व्यापारियों के मन में डर बना हुआ है.