गोभी 1 रुपये प्रति किलो भी नहीं बिक पा रहा है मंडियों में, नाराज किसानों ने पूरे गोभी के खेत को ट्रैक्टर से रौंदवा दिया

Chhattisgarh Crimes

समस्तीपुर। गोभी की फसल में ट्रैक्टर चलाने की खबर के बाद अब बिहार के जहानाबाद से भी किसानों की दुर्दशा की खबर आ रही है। किसानों ने जो गोभी लगाया था, वो एक रुपए किलों भी नहीं बिक पा रहा है, लिहाजा नाराज किसान अपने गोभी की फसल को ट्रैक्टर तले रौंदने को मजबूर हैं। इससे पहले लुधियाना से भी ऐसी ही खबरें आयी थी, जिसमें गोभी की लागत नहीं मिलने से नाराज किसान अपने फसद को रौंद रहे हैं।

समस्तीपुर के मुक्तापुर से एक तस्वीर आयी है, जिसमें ओमप्रकाश यादव नाम के किसान अपनी गोभी की फसल पर ट्रैक्टर चला रहे हैं। किसान ओमप्रकाश का कहना है कि मंडियों में 1 रुपये किलो भी गोभी नहीं बिक रहा है, लिहाजा उसे कटवाने से लेकर मंडी तक पहुंचाने का ही खर्च 1 रुपए से ज्यादा पड़ जा रहा है। जितना खर्च बोने और फसल तैयार करने में लगा, उसका आधा खर्च भी नहीं वसूल हो पाया। गोबी की फसल तैयार करने में 4 हजार रुपये कट्ठा खर्च आता है, लेकिन उसका आधा भी पैसा नहीं निकल पा रहा है।

इधर जैसे ही ट्रैक्टर से गोबी के खेत को रौदने की खबर जैसे ही आयी, ग्रामीणों ने खेत से गोबी लूट-लूटकर ले जाने लगे। इससे पहले लुधियाना में कई किसानों ने अपने खेतों को रौंद दिया था। उनका कहना था कि 20 हजार रुपये प्रति एकड़ गोभी की फसल तैयार करने में खर्च आता है, लेकिन उतना भी पैसा नहीं मिल पा रहा है।