महंगाई के विरोध में कांग्रेस ने किया चक्काजाम

Chhattisgarh Crimes
रायपुर। राजधानी रायपुर में महंगाई के मुद्दे पर कांग्रेस नेताओं ने शुक्रवार को हाइवे को जाम कर दिया। कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय अपने समर्थकों के साथ टाटीबंध इलाके में प्रदर्शन करने पहुंचे थे। चौक की मुख्य हाइवे से जुड़ी सड़क पर बीचों-बीच बैठ गए। इस दौरान वहां मौजूद कांग्रेस नेता दिलीप षडंगी ने गाना गाया। इनकी तान पर विधायक विकास उपाध्याय और कांग्रेस के बाकी नेता भी गाना गा रहे थे। गीत के बोल कुछ इस तरह के थे- सौ=सौ रुपया गैस है, चूल्हा कैसे जलाए, जनता की चिंता नहीं, कैसे देश चलाए महंगाई डायन नोच के खाए जनता के दुख को कहा नहीं जाए…।

पेट्रोल-डीजल और घरेलू गैस की बढ़ती कीमतों पर केंद्र की बीजेपी सरकार के खिलाफ कांग्रेस का हल्ला बोल जारी है। डीडी नगर भाटागांव के रायपुर में रिंग रोड नंबर एक पर यूथ कांग्रेस के नेताओं ने मोर्चा संभाला इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने चक्का जाम कर दिया और केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

Chhattisgarh Crimes

कांग्रेस नेताओं के इस विरोध प्रदर्शन की वजह से नेशनल हाइवे पर जो लोग जहां थे उन्हें वहीं रोक दिया गया। 5 मिनट के होने वाला ये चक्का जाम 15 से 20 मिनट तक चलता रहा, जिसके कारण आम लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। इसके बाद जब पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मोर्चा संभाला तब जाकर जाम खोला जा सका। आधे से एक घंटे तक लंबे जाम की वजह से लोगों को खासा परेशान होना पड़ा।

दरअसल, कांग्रेस नेता पीसीसी के निर्देश पर 5 मिनट का जाम कराने पहुंचे थे। लेकिन 5 मिनट का जाम 15 से 20 मिनट तक चलता रहा, इसके कारण लोगों को दिक्कतें होती रहीं। लेकिन कांग्रेसी नेताओं का महंगाई के मुद्दे पर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी जारी रही। इस दौरान युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कोको पाढ़ी समेत तमाम कांग्रेस नेता भी मौजूद रहे।

20 जून को महिला कांग्रेस का वर्चुअल प्रदर्शन

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने लोगों से आह्वान किया था कि सभी 18 जून को दोपहर 12 बजे 5 मिनट के लिये जहां है वहीं थम जाएं। इस चक्का जाम से मंहगाई का विरोध करें। कांग्रेस अध्यक्ष ने कांग्रेस कार्यकतार्ओं से भी चक्का जाम को सफल बनाने में जुटने को कहा था। महंगाई के खिलाफ 20 जून को महिला कांग्रेस ने भी वर्चुअल प्रदर्शन की घोषणा की है। इसके तहत महिलाएं सोशल मीडिया में विरोध करती तस्वीरें और संदेश डालेंगी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संवाद करेंगी।