पुलिस के अभियान के बाद भी राजधानी में नहीं थम रही चाकूबाजी की घटनाएं घटनाएं

टिकरापारा थाना और गुढ़ियारी थाने में गुरुवार की रात चाकूबाजी की दो मामले दर्ज

Chhattisgarh Crimes

रायपुर। शहर में चाकूबाजी के मामले बढ़ने की वजह से पुलिस अभियान चला रखा है। बावजूद इसके घटनाओं पर कोई असर नहीं हैं। टिकरापारा और गुढ़ियारी थाने में गुुरुवार देर रात दो घटनाएं हुईं। इनमें चाकू से हमला किए जाने की वजह से दो लोग घायल हैं, जिनका इलाज अस्पतालों में किया जा रहा है। पहली घटना टिकरापारा थाने की है। इसमें महज 500 रुपए के लिए एक बदमाश ने एक युवक को चाकू से हमलाकर अधमरा कर दिया। मामले में अब आरोपी को पुलिस ढूंढ रही है।

Chhattisgarh Crimes

19 साल के शेख कैफुद्दीन ने पुलिस को अपनी शिकायत में बताया कि संतोषी नगर के वो गौसिया मंस्जिद के पास रहता है। गुरुवार की रात वो इलाके की गूड्डू किराना स्टोर्स के पास खड़ा था। वहां मुहल्ले का ही रहने वाला सरफराज खान आया। उसने कैफुद्दीन ने कहा कि 500 रुपए दो, मना करने पर वो विवाद करने लगा। गुस्से में आकर सरफराज ने अपना चाकू निकाला और कैफुद्दीन की दाईं पसली में घुसा दिया।

कैफुद्दीन का हाथ और शरीर का निचला हिस्सा लहूलुहान हो गया। साथियों ने उसे अंबेडकर अस्पताल पहुंचाया और पुलिस को खबर दी। इस बीच सरफराज मौका पाकर फरार हो गया। कैफुद्दीन ने पुलिस से कहा है कि इसके पहले ही चाकू के दम पर सरफराज रुपयों की वसूली कर चुका है। फिलहाल उसकी तलाश जारी है।

दूसरा मामला गुढ़ियारी का है। घायल निलेश भौतिक नाम का युवक पेशे से मजदूर है। गुढ़ियारी इलाके में रहता है इसने पुलिस को बताया कि मैं रात को करीब साढ़े 11 बजे गोंदवारा रोड से मजदूरी करके पैदल अपने घर जा रहा था। रास्ते में चिरकूटी मंदिर के पास रूपेश गिरी नाम के लड़के ने मुझे रोका। मुहल्ले में हमारा पहले भी झगड़ा हो चुका है।

रुपेश मुझे गालियां देने लगा। मना करने पर उसने मुझे जान से मारने की धमकी दी और अपने पास रखे चाकू से मेरे पेट पर हमला कर दिया। मुहल्ले के ही रहने वाले सुमीत गोस्वामी और कुछ दूसरे लोगों ने बीच-बचाव किया। मामले में पुलिस ने कुछ युवकों को हिरासत में लिया है, फिलहाल पूछताछ जारी है।