दुष्कर्म नहीं कर सके तो पत्थर से कुचला सिर

Chhattisgarh Crimes

​​​​​​​रायगढ़। छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में बहुचर्चित काजल मसंद (23) हत्याकांड का पुलिस ने रविवार को खुलासा कर दिया। इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दुष्कर्म की नीयत से आरोपी घर में घुसे थे, पर सफल नहीं हुए। इस पर पत्थर से सिर कुचलकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद काजल के ही मोबाइल से उसकी नग्न तस्वीरें खींची। इसी के आधार पर पुलिस ने CCTV फुटेज की जांच की और डॉग रूबी की मदद से आरोपियों तक पहुंच गई।

दरअसल, चक्रधर नगर के स्वास्तिक विहार कॉलोनी स्थित घर में 14 जून की दोपहर काजल मसंद (23) का शव मिला था। काजल की बड़ी बहन की शादी हो चुकी थी। घर में सिर्फ काजल और उसकी मां ही रहते थे। काजल प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही थी। वह रोज अपनी मां को सुबह उनके कार्यस्थल पर छोड़ने जाती और फिर शाम को लेने जाती थी। वहीं पास में रहने वाला रामभरोसे चौहान काजल पर बुरी नीयत रखता था।

घटना वाले दिन राम भरोसे ने अपने दो अन्य साथियों गोपाल उर्फ नानू साहू और मित्रभानु उर्फ मोनू सोनवानी के साथ जमकर शराब पी। इसके बाद तीनों काजल के घर के पास ही खड़े थे। तभी रोज की तरह काजल अपनी मां को छोड़कर घर लौटी। उसका पीछा करते हुए तीनों पहुंचे और खिड़की से देखा तो काजल मोबाइल पर बातें कर रही थी। दरवाजा अंदर से नहीं बंद होने के चलते तीनों घर में घुस गए और काजल से जबरदस्ती करने लगे।

मां ने दोपहर में पड़ोसी को भेजा तो हत्या का पता चला

काजल ने विरोध किया और शोर मचाया। इस पर आरोपियों को लगा कि वह अपने मंसूबे में कामयाब नहीं पाएंगे तो राम भरोसे बाहर गया। वहां से पत्थर लेकर आया और काजल का सिर कुचलकर हत्या कर दी। आरोपियों ने काजल के कपड़े उतारे और उसके ही मोबाइल से नग्न तस्वीरें ली। इसके बाद सभी वहां से भाग निकले। दोपहर में काजल की मां ने उसे कई कॉल किया, लेकिन बात नहीं हुई। इस पर उन्होंने पड़ोसी को भेजा तो हत्या का पता चला।

मां के मोबाइल पर पहुंची तस्वीरें, फिर बदली जांच

पुलिस ने बताया कि काजल और उसकी मां के मोबाइल पर एक ही जीमेल का अकाउंट एक्टिव है। काजल के मोबाइल से फोटो लेने के कारण, वो उसकी मां के पास भी पहुंच गई। हालांकि पुलिस को काजल का मोबाइल नहीं मिला। उन तस्वीरों को देखने के बाद घटना स्थल पर पहले और बाद में अंतर दिखा। यहीं से पुलिस को पहला सबूत मिला। इसके बाद पुलिस ने पूछताछ के साथ ही आसपास लगे CCTV फुटेज खंगालने शुरू किए ।

पहले भी दुष्कर्म में पकड़ा गया

इस बीच पुलिस ने डॉग रूबी की भी मदद ली। वह सूंघते हुए राम भरोसे तक पहुंची, लेकिन तब सबूत नहीं थे। फिर CCTV की जांच के दौरान पुलिस को उसमें राम भरोसे दिखाई दिया। इस पर पुलिस का शक पुख्ता हुआ और उन्होंने राम भरोसे की डिटेल निकाली। वहीं हर बार डॉग रूबी आरोपी राम भरोसे के पास ही जाकर रुक जाती। इस पर पुलिस ने राम भरोसे को हिरासत में ले लिया। पूछताछ में उसने साथियों के साथ वारदात की बात स्वीकार कर ली।

काजल का मोबाइल पकड़े जाने के डर से फेंका

आरोपी हत्या के बाद घर से एक थैला और वहां रखे 1500 रुपए व काजल का मोबाइल लेकर भागे थे। जबकि एक तौलिया में पत्थर को लपेट कर साथ ले गए। अटल आवास में तीनों ने रुपए बांटे और थैला व बाकी सामान वहीं फेंक दिया। जबकि मोबाइल को आरोपी त्रिभुवन ने पचधारी में फेंक देने की बात बताया। पुलिस ने रूबी की मदद से सारा सामान बरामद कर लिया है। हालांकि काजल का मोबाइल अब तक नहीं मिल सका है।